पहला पन्ना >राजनीति >जम्मू Print | Share This  

अल कायदा नेता अल रहमान को मारने का दावा

अल कायदा नेता अल रहमान को मारने का दावा

इस्लामाबाद. 28 अगस्त 2011


अमरीका ने दावा किया है कि उसने अल कायदा के शीर्ष नेतृत्व अतिया अब्द अल रहमान को मार गिराया है. ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद अल कायदा को दूसरा बड़ा झटका लगा है.

अमरीकी अधिकारियों के मुताबिक रहमान इस सप्ताह से पहले उत्तरी वजीरिस्तान में मारा गया. अल कायदा चीफ ओसामा बिन लादेन की मौत के बाद संगठन की कमान रहमान के हाथ में थी.

बताया जाता है कि अब्द अल-रहमान पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान में सक्रिय पांच बड़े चरमपंथियों में दूसरे नंबर का नेता था, जिसे अमरीका और पाकिस्तान पकड़ना या मारना चाहते थे. अब्द अल-रहमान 1980 के दशक में अफ़गानिस्तान में बिन लादेन से आ मिले थे. बाद में अल-क़ायदा में उसकी साख इस्लाम के विद्वान और विस्फोटकों के माहिर के रूप में बनी थी.

लीबिया मूल के रहमान ने पिछले साल अल कायदा की कमान अपने हाथ में ली थी. अमरीकी अधिकारियों के मुताबिक अयमान अल जवाहिरी संगठन को चलाने के लिए पूरी तरह रहमान पर निर्भर था. ओसामा के ठिकाने से मिले सबूतों के मुताबिक रहमान अल कायदा के आतंकियों को हमलों के लिए निर्देश देता था. एक अधिकारी ने बताया कि बिन लादेन के ख़िलाफ़ ऑपरेशन के दौरान मिले दस्तावेज़ों से साफ़ था कि अब्द अल-रहमान अल-क़ायदा के ऑपरेशनों में बड़ी गहराई से जुड़ा था.