पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

दिल्ली हाईकोर्ट पर आतंकी हमला

दिल्ली हाईकोर्ट पर आतंकी हमला

नई दिल्ली. 7 सितंबर 2011


केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि बुधवार को दिल्ली हाई कोर्ट पर हमला आतंकवादियों की करतूत है. चिदंबरम ने बताया कि खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस को जुलाई में कुछ अहम जानकारियां दी थीं. उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस की क्षमता बढ़ाने और उच्च सतर्कता के बावजूद ये घटना हो गई जो दुर्भाग्यपूर्ण है. गृह मंत्री चिदंबरम ने सीधे तौर पर इसे आतंकवादी हमला बताते हुए इसकी भर्त्सना की.

इधर इस घटना में मारे जाने वालों की संख्या एक दर्जन से ऊपर पहुंच चुकी है. अधिकारियों के अनुसार दिल्ली उच्च न्यायालय के बाहर बुधवार सुबह न्यायालय के गेट नम्बर पांच के बाहर हुये विस्फोट में कम से कम 85 लोग घायल हो गये.

यह विस्फोट उस जगह पर हुआ, जहां करीब सौ दो सौ लोग न्यायालय परिसर में प्रवेश के लिए जरूरी पास लेने के इरादे से कतार बांधे इंतजार कर रहे थे. बुधवार को आमतौर पर अदालत में अधिक कामकाज होता है क्योंकि यह दिन जनहित याचिकाओं पर सुनवाई के लिए मुकर्रर है और लोग बड़ी संख्या में अदालत परिसर में आते हैं.

एक अधिकारी ने बताया कि उच्च न्यायालय के गेट पर बम संभवत: एक ब्रीफकेस में रखा हुआ था. गृह सचिव आरके सिंह ने बताया कि धमाका सुबह 10:14 बजे हुआ.

दिल्ली बम धमाकों का घटनाक्रम
29 अक्टूबर, 2005: दिल्ली के दो व्यस्त बाज़ारों में ज़बरदस्त धमाके जिनमें 50 लोगों की मौत हुई और 70 लोग घायल हुए थे.

22 मई, 2005: दिल्ली के दो सिनेमाघरों में विस्फोट, एक की मौत

30 दिसंबर, 1997: पंजाबी बाग के पास एक बस में विस्फोट जिसमें चार यात्रियों की मौत हुई और 30 अन्य घायल हुए थे.

30 नवंबर, 1997: लाल किला इलाके में दो धमाके. तीन लोगों की मौत, 70 घायल

26 अक्टूबर, 1997: करोल बाग इलाके में दो धमाके. एक की मौत, 34 घायल

18 अक्टूबर, 1997: रानी बाग़ इलाके में दो विस्फोट. एक की मौत, 23 घायल

10 अक्टूबर, 1997: दिल्ली में तीन धमाके हुए. ये धमाके शांतिवन, कौड़िया पुल और किंग्सवे कैंप में धमाके. एक की मौत, 16 घायल

1 अक्टूबर, 1997: सदर बाज़ार इलाके में दो विस्फोट. तीस लोग घायल

9 जनवरी, 1997: आईटीओ स्थित दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर विस्फोट, 50 घायल

23 मई, 1996: लाजपत नगर सेंट्रल मार्केट मे धमाका. कम से कम 16 लोगों की मौत