पहला पन्ना >राजनीति >बात Print | Share This  

खंडूड़ी बने उत्तराखंड के नये मुख्यमंत्री

खंडूड़ी बने उत्तराखंड के नये मुख्यमंत्री

नई दिल्ली. 11 सितंबर 2011


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने रविवार को राजभवन पहुंचकर राज्यपाल मार्गेट अल्वा को अपना इस्तीफा पत्र सौंप दिया. निशंक की जगह भुवन चन्द्र खंडूड़ी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. इससे पहले उन्हें ध्वनि मत से बीजेपी विधायक दल का नेता चुना गया. उत्तराखंड में बीजेपी विधायक दल की बैठक के बाद निशंक अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों बंशीधर भगत, मदन कौशिक, खजान दास और गोविन्द सिंह बिष्ट के साथ राजभवन पहुंचे और अल्वा को अपना इस्तीफा सौंप दिया.

गौरतलब है कि शनिवार को पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा था कि निशंक की घटती लोकप्रियता के कारण पार्टी को चुनावों से पहले यह निर्णय लेना पड़ा है. हालांकि, गडकरी ने कहा कि निशंक को पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी दी जाएगी.

खंडूड़ी को भाजपा विधायक दल की बैठक में नया नेता चुना गया. बैठक में रमेश पोखरियाल निशंक, पार्टी के प्रदेश प्रभारी थावर चंद्र गहलोत सहित कई वरिष्ठ नेता उपस्थित थे. रेंजर्स मैदान में भारी भीड़ की उपस्थिति में खंडूड़ी ने ईश्वर के नाम पर पद एवं गोपनीयता की शपथ ली.

गौरतलब है कि उत्तराखंड में गत लोकसभा चुनावों में पांचों सीटों पर हार के बाद खंडूड़ी को मुख्यमंत्री पद छोड़ना पड़ा था. उन्होंने 25 जून 2009 को तत्कालीन राज्यपाल बी एल जोशी को अपना इस्तीफा सौंप दिया था. खंडूड़ी को आज 808 दिनों के बाद फिर से इस पर्वतीय राज्य की कमान सौंप गई है. खंडूड़ी के समक्ष मुख्य रूप से अगले वर्ष के शुरुआत में होने वाले चुनावों में पार्टी को वापस सत्ता में लाने की बड़ी चुनौती है.