पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

प्रशांत भूषण को टीम में रखने पर होगा विचार-अन्ना हजारे

प्रशांत भूषण को टीम में रखने पर होगा विचार-अन्ना हजारे

नई दिल्ली. 14 अक्टूबर 2011


अन्ना हजारे ने जन लोकपाल के मुद्दे पर लड़ाई लड़ रही अपनी टीम के सदस्य और प्रसिद्ध अधिवक्ता प्रशांत भूषण की आलोचना करते हुये कहा है कि कश्मीर पर प्रशांत भूषण के विचार सही नहीं हैं. उन्होंने कहा कि कश्मीर हमारे देश का अभिन्न अंग है. अन्ना ने यह भी कहा कि प्रशांत भूषण को टीम में रखने पर विचार किया जाएगा.

अन्ना हजारे


ज्ञात रहे कि बनारस में एक कार्यक्रम में प्रशांत भूषण ने कहा था कि कश्मीर में जनमत संग्रह कराया जाना चाहिये और वहां की जनता को तय करना चाहिये कि वह भारत के साथ रहना चाहती है या वह स्वतंत्र रुप से अलग हो कर अपना अस्तित्व बनाना चाहती है. 25 सितंबर को दिये उनके बयान के बाद 12 अक्टूबर को दिल्ली में तीन लोगों ने प्रशांत भूषण के सुप्रीम कोर्ट स्थित कार्यालय में घुसकर उनके साथ मारपीट की थी और उन्हें कुर्सी से गिरा दिया था. इस घटना के बाद दो युवक भाग गये, जबकि तीसरे युवक को पकड़ लिया गया था. ये युवक भाजपा और श्रीराम सेना से जुड़े हुये थे.

शुक्रवार को अन्ना हजारे ने मीडिया से बातचीत करते हुये कहा कि कश्मीर को लेकर प्रशांत भूषण ने जो विचार व्यक्त किये थे, ये प्रशांत भूषण के विचार थे और वे उससे सहमत नहीं है. अन्ना हजारे ने कहा कि प्रशांत भूषण के विचार ठीक नहीं हैं. बात यहीं नहीं रुकी. अन्ना हजारे ने यह भी कहा कि प्रशांत भूषण को टीम में रखने पर भी विचार किया जाएगा. कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और इसे कोई ताकत भारत से नहीं छीन सकता.

इससे पहले टीम अन्ना की एक और सदस्य किरण बेदी ने भी पल्ला झाड़ लिया था. किरण बेदी ने माइक्रो ब्लागिंग वेबसाइट ट्विटर पर इस संबंध में पूछे गये एक सवाल के जवाब में कहा था, ‘‘यह भूषण जी के निजी विचार हैं. मैं जम्मू कश्मीर में सुशासन और जनता के उससे बेहतर जुड़ाव के हक में हूं.’’

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Kanwr Pal Singh Advocate [ahlwatkpsingh0000@gmail] SadarPur, Meerut - 2011-10-14 13:51:04

 
  Many a Jawans, civil and armyman of India sacrificed their life for Kashmir uptill now , how they may be forgotten. If any person thinks,sitted in AC room, such as Prashant Bhushan,who don.t know value the life of a Jawan/Sainik.Such person is not authorise to say nothing in connection with Kashmir. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in