पहला पन्ना >राज्य >राजस्थान Print | Share This  

भंवरी देवी कांड में मुख्य आरोपी का समर्पण

भंवरी देवी कांड में मुख्य आरोपी का समर्पण

जोधपुर. 22 अक्टूबर 2011


जोधपुर की लापता नर्स और लोक कलाकार भंवरी देवी मामले में मुख्य अभियुक्त कहे जा रहे शहाबुद्दीन ने शनिवार को जोधपुर की सीबीआई कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया. आरोप है कि शहाबुद्दीन की गाड़ी से ही भंवरी देवी का अपहरण किया गया था. इस आरोपी पर 25 हजार रुपये का ईनाम पुलिस ने रखा था.

भंवरी देवी


उल्लेखनीय है कि जोधपुर की नर्स और लोक कलाकार भंवरी देवी एक सितंबर से ही लापता हैं. माना जा रहा है कि राज्य सरकार के कुछ विधायक और मंत्री के साथ भंवरी देवी के कुछ आपत्तिजनक सीडी हैं और इसी कारण से उनका अपहरण किया गया है. पुलिस ने दावा किया था कि गुजरात के पालनपुर इलाके से उस जीप को बरामद कर लिया है, जिसमें भंवरी देवी का अपहरण किया गया था. हालांकि पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया लेकिन पुलिस अब तक भंवरी देवी को नहीं तलाश पाई.

इस मामले में जोधपुर जिले की एक अदालत ने भंवरी देवी के पति के इस्तगासे के आधार पर जलदाय मंत्री महिपाल मदेरणा के खिलाफ भी मामला दर्ज करने के निर्देश पुलिस को दिए थे. इसके सरकार द्वारा मदेरणा को बर्खास्त करने की घोषणा की गई.

इस मामले में सीबीआई ने अपना कामकाज संभालने के बाद जेल में बंद सोहनलाल विश्नोई और बलदेव से पूछताछ की. पिछले एक सप्ताह में सीबीआई ने जोधपुर से करीब 80 किलोमीटर दूर पीपाड़ सिटी और पीपाड़ रोड के बीच बने कुछ चूने के भट्टे का भी दौरा किया, जहां भंवरी देवी के शव को जलाने की आशंका जताई जा रही थी. हालांकि सीबीआई अफसरों ने इस मामले में कुछ भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया.

इस बीच भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राज्यसभा सांसद रामदास अग्रवाल ने कहा है कि भंवरी देवी प्रकरण का राज खुलेगा तो कांग्रेस सरकार गिर जाएगी. उन्होंने आरोप लगाया कि मामले में कांग्रेस के कई लोग लिप्त हैं.