पहला पन्ना >राजनीति >पाकिस्तान Print | Share This  

अन्ना हजारे की राह पर इमरान खान

अन्ना हजारे की राह पर इमरान खान

इस्लामबाद. 1 नवंबर 2011

लगता है पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इमरान खान भी अन्ना हजारे से प्रभावित हो गये हैं. रविवार को अपनी पार्टी की लाहौर में संपन्न विशाल रैली से बेहद खुश इमरान खान ने कहा है कि पाकिस्तान में अगर राजनेता अपनी संपत्ति घोषित नहीं करते तो उनके खिलाफ वे देश के हरेक शहर में सड़कों को जाम करेंगे. उन्होंने कहा कि देश की जनता अब अहिंसक तरीके से सड़कों पर उतरेगी.

इमरान खान


चीन रवाना होने से पहले इमरान खान ने फिर से दुहराया है कि भारत किसी भी मामले में अमरीका से ज्यादा ताकतवर नहीं है और उसे कश्मीर की जनता की राय का सम्मान करना चाहिये. इमरान ने कहा कि कश्मीर से भारतीय फौजों को वापस किया जाना चाहिये.

गौरतलब है कि रविवार को लाहौर के मीनार-ए-पाकिस्तान के पास आयोजित अपनी पार्टी की एक विशाल रैली को संबोधित करते हुये इमरान खान ने कहा था कि कश्मीर के लोगों के बीच सात लाख फौजी तैनात करके हिंदुस्तान को कुछ हासिल नहीं होगा. इतिहास गवाह है कि कोई भी सेना किसी भी देश की समस्या का समाधान नहीं कर सकी है. इमरान खान ने सवाल खड़े किये थे कि जब अमरीका की सेना अफगानिस्तान में कामयाब नहीं हो सकती तो फिर भारत की सेना कश्मीर में कैसे कामयाब हो सकती है?

सोमवार को इमरान खान ने फिर दुहराया कि उनकी पार्टी कश्मीर की जनता के साथ है. पाकिस्तान में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर इमरान खान ने कहा कि सत्ताधारी पीपुल्स पार्टी और विपक्षी मुस्लिम लीग-नवाज के नेताओं को अपनी संपत्ति की घोषणा करनी चाहिये. अगर दोनों दलों ने उनकी मांग नहीं मानी तो उन्हें नागरिक अवज्ञा आंदोलन का सामना करना होगा.

इमरान ने कहा कि वे अहिंसक तरीके से देश में आंदोलन चलाएंगे. उन्होंने कहा कि देश के बारे में चिंता करने वाली हरेक पार्टी को एकजुट हो कर भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिये सामने आना चाहिये. इमरान ने कहा कि पाकिस्तान में जो हालात हैं, उससे लगता है कि अगले साल संसद का चुनाव करवाना ही पड़ेगा.