पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >साहित्य >कविता Print | Share This  

कविता समय सम्मान इब्बार रब्बी और प्रभात को

कविता समय सम्मान इब्बार रब्बी और प्रभात को

नई दिल्ली. 1 नवंबर 2011

कविता समय सम्मान 2012 हिंदी के वरिष्ठ कवि इब्बार रब्बी को और कविता समय युवा सम्मान 2012 युवा कवि प्रभात को जनवरी में जयपुर में हो रहे दूसरे सालाना आयोजन में दिया जायेगा. यह सम्मान 'प्रतिलिपि' और 'दखल विचार मंच' के सहयोग से हिंदी कविता के प्रसार, प्रकाशन और उस पर विचार विमर्श के लिए 2011 में बोधिसत्व, गिरिराज किराडू और अशोक कुमार पाण्डेय द्वारा स्थापित मंच कविता समय की ओर से दिये जाते हैं. सम्मान के लिये कवियों का का चयन तीनों संस्थापक ही करते हैं.

इब्बार रब्बी और प्रभात


कविता समय सम्मान के तहत एक प्रशस्ति पत्र और पाँच हजार रुपये की राशि तथा कविता समय युवा सम्मान के तहत एक प्रशस्ति पत्र और ढाई हजार रुपये की राशि प्रदान की जाती है.

कविता समय सम्मान 2012 से सम्मानित इब्बार रब्बी की कविता हाशिये के पक्ष में खड़ी ऐसी कविता है, जो खुद के लिये ‘केन्द्रीय’ महत्व नहीं चाहती; कमजोर के हक़ में काम करती है लेकिन ‘शक्ति केंद्र’ की तरह बर्ताव नहीं करती और सामाजिकता से अपना जीवन-द्रव्य पाने के बाद खुद कवि के व्यक्तित्व का लापरवाह प्रदर्शन नहीं बन जाती. हाशिये पर रहने की; खुद को ही दृश्य मानने, मनवाने से लगातार बचने की कठिन नैतिकता के लिये इब्बार रब्बी की कविता को सम्मानित करते हुए ‘कविता समय' सम्मानित महसूस करता है.

कविता समय युवा सम्मान 2012 से सम्मानित प्रभात की कविता सफल, चमकती दुनिया का अपनी क्रांतिकारी नैतिकता से मखौल उड़ाने की बजाय खुद कवि या कविता की सफलता पर संदेह करने वाली ऐसी कविता है जो आज्ञाकारी, विमर्श-सुलभ और स्पर्शकातर नहीं है. सामाजिकताओं/निजताओं, लोक/नगर, प्रगति/कला, मनुष्य/मनुष्येत्तर के सुलभ विरोध या उनके मासूम एकत्व के बरक़्स उनके गहरे संश्लेषण के इस मजबूत सबआल्टर्न स्वर को सम्मानित करते हुए ‘कविता समय' सम्मानित महसूस करता है.

कविता समय सम्मान हर वर्ष 60 वर्ष से अधिक आयु के एक वरिष्ठ कवि को दिया जाता है जिसकी कविता ने निरंतर मुख्यधारा कविता और उसके कैनन को प्रतिरोध देते हुए अपने ढंग से, अपनी शर्तों पर एक भिन्न काव्य-संसार निर्मित किया हो और हमारे-जैसे कविता-विरोधी समय में निरन्तर सक्रिय रहते हुए अपनी कविता को विभिन्न शक्तियों द्वारा अनुकूलित नहीं होने दिया हो.

कविता समय युवा सम्मान 45 वर्ष से कम आयु के पूर्व में अपुरस्कृत ऐसे कवि को दिया जाता है जिसकी कविता की ओर, उत्कृष्ट संभावनाओं के बावजूद, अपेक्षित ध्यानाकर्षण न हुआ हो. पिछले वर्ष कविता समय सम्मान 2011 चंद्रकांत देवताले को और कविता समय युवा सम्मान 2011 कुमार अनुपम को दिया गया था.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Pallav [pallavkidak@gmail.com] Delhi - 2011-11-02 09:50:51

 
  प्रभात अद्भुत कवि हैं, युवा शोर से अलहदा चुपचाप कवि कर्म में तल्लीन. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in