पहला पन्ना >राज्य >झारखंड Print | Share This  

मधु कोड़ा के सेल में मोबाइल और नशीला पदार्थ

मधु कोड़ा के सेल में मोबाइल और नशीला पदार्थ

रांची. 4 नवंबर 2011

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद मधु कोड़ा जेल की जिस सेल में बंद रहे हैं, उसकी तलाशी में बड़ी मात्रा में नशीले पदार्थ, मोबाइल फोन और आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई है. जेल अधिकारियों ने इस बारे में राज्य सरकार को सूचना दे दी है. आरोप है कि इस मोबाइल फोन से देश के अलावा विदेशों में भी लगातार बातचीत की गई है. उधर इस मामले पर मधु कोड़ा की पत्नी ने कहा है कि जेल प्रशासन मधु कोड़ा की पिटाई से ध्यान भटकाने के लिये ऐसे आरोप लगा रहा है.

मधु कोड़ा


गौरतलब है कि चार हजार करोड़ रुपए के घोटाले के आरोप में जेल में बंद झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा की अच्छे भोजन की मांग पर सोमवार को कथित रुप से रांची स्थित होतवार जेल के सिपाहियों ने पिटाई कर दी थी, जिससे वह घायल हो गए और उन्हें राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया.

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद मधु कोड़ा ने आरोप लगाया कि रांची स्थित होतवार जेल में अच्छे भोजन की मांग के साथ वह दो दिनों से जेल के भीतर ही अनशन पर थे. मगर अच्छा भोजन देने के बजाय सोमवार को जेल के सिपाहियों ने उनकी पिटाई कर दी, जिससे उनके दाहिने हाथ की हड्डी टूट गयी. कोड़ा ने आरोप लगाया था कि अच्छे भोजन की मांग करने पर उनके ऊपर जेल प्रशासन ने लाठीजार्च कराया, जिससे वह घायल हो गए. कोड़ा ने कहा, ‘‘जेल में मेरी जान को खतरा है. मेरी पिटाई के पूरे मामले की न्यायिक जांच करवाई जाये.’’

कोड़ा मुख्यमंत्री के रुप में चार हजार करोड रुपए से अधिक के घोटाले के आरोप में तीन नवंबर 2009 को गिरफ्तार हुए थे और उसी समय से वह जेल में बंद हैं. कोड़ा के खिलाफ़ केन्द्रीय जांच ब्यूरो, आयकर विभाग, प्रवर्तन निदेशालय और झारखंड सतर्कता विभाग भ्रष्टाचार के मामलों में जांच कर रहे है.

इधर ताजा घटनाक्रम में जेल प्रशासन ने मधु कोड़ा की सेल से नशीले पदार्थ और सेलफोन समेत कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद करने का आरोप लगाया है. जेल अधिकारियों के कहना है कि मोबाइल के कॉल डिटेल में यह तथ्य सामने आया है कि उक्त मोबाइल से देश के अलावा दुनिया के कई देशों में बातचीत की गई है. हालांकि जेल में जैमर लगा हुआ है लेकिन इस बातचीत की बात सामने आने के बाद यह साफ हो गया है कि जेल का जैमर काम नहीं कर रहा था.