पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

भाषण से नहीं मिटेगा भ्रष्टाचार-सोनिया

भाषण से नहीं मिटेगा भ्रष्टाचार-सोनिया

नई दिल्ली. 9 नवंबर 2011

सोनिया गांधी


कांग्रेस पार्टी की सुप्रीमो सोनिया गांधी ने लोकपाल पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुये कहा है कि प्रधानमंत्री ने पहले ही कह दिया है कि सरकार संसद में एक मज़बूत लोकपाल बिल लाने के लिए प्रतिबद्ध है. तो फिर इस बारे में हंगामे या बवाल की क्या ज़रूरत है? उन्होंने यह भी कहा कि केवल भाषण देकर भ्रष्टाचार से नहीं लड़ा जा सकता.

विदेश से इलाज करवा कर भारत वापस आने के बाद सोनिया गांधी को पहली बार उत्तराखंड में एक सार्वजनिक सभा में हिस्सा लेना था. लेकिन बीमारी का हवाला दे कर वे इस कार्यक्रम में नहीं आईं. लेकिन कार्यक्रम स्थल पर उनका भाषण पढ़ कर सुनाया गया.

इस भाषण में सोनिया गांधी ने कहा कि यूपीए की सरकार ने ही आरटीआई लागू किया था और सरकार बेहतर लोकपाल के लिये प्रतिबद्ध है.

इधर सोनिया गांधी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुये अन्ना हजारे ने कहा कि हम भाषण देने का काम नहीं करते. हमारी तो सीधी सी मांग है कि शीतकालीन सत्र में सरकार लोकपाल बिल को पेश करे.

सोनिया गांधी के ऐलान के बाद टीम अन्ना के अहम सदस्य अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बयान का स्वागत किया है. उन्होंने लिखा है, हम उम्मीद करते हैं कि प्रधानमंत्री अपने वादे को कायम रखेंगे और 'सदन की भावना' के मुताबिक मजबूत लोकपाल कानून पास होगा.