पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

भाषण से नहीं मिटेगा भ्रष्टाचार-सोनिया

भाषण से नहीं मिटेगा भ्रष्टाचार-सोनिया

नई दिल्ली. 9 नवंबर 2011

सोनिया गांधी


कांग्रेस पार्टी की सुप्रीमो सोनिया गांधी ने लोकपाल पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुये कहा है कि प्रधानमंत्री ने पहले ही कह दिया है कि सरकार संसद में एक मज़बूत लोकपाल बिल लाने के लिए प्रतिबद्ध है. तो फिर इस बारे में हंगामे या बवाल की क्या ज़रूरत है? उन्होंने यह भी कहा कि केवल भाषण देकर भ्रष्टाचार से नहीं लड़ा जा सकता.

विदेश से इलाज करवा कर भारत वापस आने के बाद सोनिया गांधी को पहली बार उत्तराखंड में एक सार्वजनिक सभा में हिस्सा लेना था. लेकिन बीमारी का हवाला दे कर वे इस कार्यक्रम में नहीं आईं. लेकिन कार्यक्रम स्थल पर उनका भाषण पढ़ कर सुनाया गया.

इस भाषण में सोनिया गांधी ने कहा कि यूपीए की सरकार ने ही आरटीआई लागू किया था और सरकार बेहतर लोकपाल के लिये प्रतिबद्ध है.

इधर सोनिया गांधी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुये अन्ना हजारे ने कहा कि हम भाषण देने का काम नहीं करते. हमारी तो सीधी सी मांग है कि शीतकालीन सत्र में सरकार लोकपाल बिल को पेश करे.

सोनिया गांधी के ऐलान के बाद टीम अन्ना के अहम सदस्य अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बयान का स्वागत किया है. उन्होंने लिखा है, हम उम्मीद करते हैं कि प्रधानमंत्री अपने वादे को कायम रखेंगे और 'सदन की भावना' के मुताबिक मजबूत लोकपाल कानून पास होगा.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

bhaskar [] vadodara - 2011-11-09 14:16:28

 
  It is never the activity of the rascals that destroy the society, but always the inactivity of the good people.
Take care of your pence and your shillings will take care of the Government.
 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in