पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >उ.प्र. Print | Share This  

राहुल के मिशन 2012 का विरोध

राहुल के मिशन 2012 का विरोध

इलाहाबाद. 14 नवंबर 2011

राहुल गांधी


राहुल गांधी की उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की वापसी के लिये शुरु हुई मिशन-2012 यात्रा के पहले ही दिन राज्य में सपा ने उनका विरोध शुरु कर दिया है. सोमवार को इलाहाबाद में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने रैली निकाल कर राहुल गांधी का पुतला फूंका और सड़क जाम कर दिया. बाद में पुलिस ने 50 सपा कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की राजनीति में हाशिये पर आ गई कांग्रेस को फिर से केंद्र में लाने की कोशिश में राहुल गांधी लगे हुये हैं. पिछले कुछ सालों से वे लगातार वहां मेहनत कर रहे हैं. अब उनकी कोशिश है कि 22 सीटों वाली कांग्रेस को विधानसभा में बहुमत दिलाकर सत्ता का बागडोर संभाली जाये. लेकिन 202 सीटों के बहुमत तक पहुंचने की राहुल गांधी की राह आसान नहीं है. जाहिर है, इसलिये ही खास तौर पर राहुल ने मिशन-2012 शुरु किया है.

योजना है कि अगले 2 महीने में राज्य के हर विधानसभा इलाके में राहुल गांधी या किसी वरिष्ठ नेता के साथ कांग्रेस की एक रैली और सभा का आयोजन किया जाएगा. बाद में एक महारैली राजधानी लखनऊ में की जाएगी. इसकी शुरुवात के लिये इलाहाबाद के फूलपुर लोकसभा क्षेत्र का चयन किया गया. लेकिन राहुल की इस यात्रा का विरोध भी शुरु हो गया है. इलाहाबाद और अमेठी में सपा के कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी का भारी विरोध किया है. इन दोनों की इलाकों में सपा के लोगों ने रैलियां निकाली और राहुल गांधी का पुतला फूंक कर अपना विरोध जताया.

दूसरी ओर बसपा की सुप्रीमो और राज्य की मुख्यमंत्री मायावती पहले ही कह चुकी हैं कि कांग्रेस के युवराज यूपी में आकर नाटकबाजी करना बंद करें. उन्होंने आरोप लगाया था कि राहुल गांधी द्वारा यहां के गांवों में जाकर लोगों का हाल लेना महज एक नाटक है. अगर कांग्रेस के युवराज को कुछ करना ही है तो अपने शासन वाले राज्यों में करें. मायावती ने राहुल गांधी के मिशन 2012 पर निशाना साधते हुये कहा है कि कांग्रेस पार्टी के युवराज को यूपी आकर गुस्सा आता है, अपनी सरकारों पर गुस्सा क्यों नहीं आता, जहां एक से एक भ्रष्ट लोगों का साम्राज्य है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in