पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >उ.प्र. Print | Share This  

बाबा रामदेव को हो सकती है उम्रकैद

बाबा रामदेव को हो सकती है उम्रकैद

फैजाबाद. 17 नवंबर 2011

बाबा रामदेव


अगर अदालत में यह बात साबित हो गई कि बाबा रामदेव ने देशद्रोह किया है तो उन्हें उम्रकैद की सजा हो सकती है. फैजाबाद की अदालत में उनके खिलाफ दायर देशद्रोह की याचिका को लेकर कानून के विद्वान मानते हैं कि मामला सही साबित होने पर बाबा को आजीवन जेल में रहना पड़ सकता है.

गौरतलब है कि फैजाबाद की अदालत में सामाजिक कार्यकर्ता मोहम्मद अली की ओर से बाबा रामदेव के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की गई है, जिसे एडीजे भागीरथी वर्मा ने स्वीकार कर लिया है. रामदेव पर आरोप है कि वे भारत सरकार के खिलाफ साजिश रच रहे हैं और लीबिया की तर्ज पर बगावत की वकालत कर रहे हैं.

बाबा रामदेव ने हाल ही में कहा था कि जिन लोगों ने भी इस देश को लूटा है, वे लिबिया के तानाशाह कर्नल गद्दाफी के चरित्र के प्रतिरुप हैं और ऐसे लोगों का अंजाम गद्दाफी की तरह होना चाहिये. लिबिया के इस तानाशाह को पिछले दिनों नाटो सैनिकों ने स्थानीय विद्रोहियों के साथ मिल कर पकड़ा था और पीटने के बाद गोली मार कर उनकी हत्या कर दी थी.

रामदेव के इस बयान पर फैजाबाद के सामाजिक कार्यकर्ता मोहम्मद अली ने स्थानीय अदालत में याचिका दायर करते हुये कहा कि बाबा रामदेव का बयान देश की तख्ता पलट करने के आह्वान की तरह है और इस तरह का कृत्य देशद्रोह की श्रेणी में आता है. ज्ञात रहे कि भारतीय दंड संहिता में देश के खिलाफ बोलना, लिखना या ऐसी कोई भी हरकत करना, जिससे नफरत की भावना फैलती हो, उसे देशद्रोह माना जाता है. भारतीय दंड संहिता की धारा-124 ए के तहत ऐसी भाषणबाजी करने पर बाबा रामदेव को उम्रकैद तक हो सकती है. मामले की सुनवाई 21 नवंबर को होगी.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

दुर्वेश [vichar2000@gmail.com] भोपाल - 2011-11-18 06:04:56

 
  मेरी समझ से बाबा को तो यही कहना है कि जो लोग देश को लूट रहे हैं, उनके हाथ में देश की बागडोर नहीं होनी चाहिये. ऐसे लोगो को सत्ता से बाहर कर देना चाहिये. जो हाल गद्दाफी का हुआ, अगर जल्दी ही कुछ ना किया तो ऐसा ही हाल इस देश की आम जनता निक्कमे सत्ताधारीयों का कर देगी. 125 करोड़ की आबादी में कितनों को आप देशद्रोही बता कर जेल में डालोगे. ...सत्ता के नशे में चूर ये लोग कुछ भी कर लें, इस आग को बुझा नहीं पायेगे. अगर समस्या लोकतांत्रिक तरीके से हल नहीं होती तो महंगाई और लूट से परेशान जनता के पास और कोई विकल्प भी नहीं होगा. इसलिये देशद्रोही और देशभक्त का अगर यही पैमाना है तो इसे बदलना होगा. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in