पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >राजस्थान Print | Share This  

सैनिकों ने किया चिंकारा का शिकार

सैनिकों ने किया चिंकारा का शिकार

जोधपुर. 26 नवंबर 2011

चिंकारा


राजस्थान के बाड़मेर इलाके में सेना के जवानों द्वारा काले हिरण यानी चिंकारा के शिकार का मामला तूल पकड़ने लगा है. पुलिस ने कहा है कि दोषी चाहे कोई भी हो, उसे बख्शा नहीं जाएगा. वहीं सेना के अधिकारियों ने भी कहा है कि सेना के जवानों द्वारा चिंकारा के शिकार किये जाने की घटना बेहद गंभीर है और इसमें शामिल जवानों पर नियमानुसार कड़ी कार्रवाई की जाएगी. हालांकि सेना के जवानों का कहना है कि उन्होंने चिंकारा का शव गांव वालों से खरीदा था.

गौरतलब है कि बाड़मेर के निम्बला गांव के पास पुलिस ने युद्धाभ्यास कर रहे भारतीय सेना के जवानों के कैंप से तीन चिंकारा के सिर, मांस और शिकार करने के लिये इस्तेमाल की गई जिप्सी जप्त की है. सेना के जवान जैसलमेर और बाड़मेर के पास ‘सुदर्शन शक्ति’ नाम से युद्धाभ्यास कर रहे हैं.

वन विभाग को सूचना मिली थी कि युद्धाभ्यास में शामिल सैनिकों ने गुरुवार की देर रात चिंकारा का शिकार किया है. इस सूचना के बाद वन विभाग ने सेना के इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिकल इंजीनियरिंग विंग के 88 आर्म्ड वर्कशॉप यूनिट में छापा मार कर 3 चिंकारा का सिर और मांस बरामद किया.

वन विभाग का कहना है कि अभ्यास में शामिल सेना के जवानों ने चिंकारा का शिकार किया और उनका मांस पकाने की तैयारी कर रहे थे. इसके लिये सभी तीन चिंकारा के सर काट कर उनका मांस टुकड़ों में किया जा रहा था. वन विभाग ने पांच जवानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

भारत सरकार द्वारा संरक्षित चिंकारा के शिकार की खबर ने सेना की नींद भी उड़ा दी है. इस मामले में सेना ने कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दे दिए हैं. हालांकि सेना के जवानों का कहना था कि उन्होंने मांस गांव वालों से खरीदा था लेकिन सेना की ही एक जिप्सी में जिस तरह से खून के निशान मिले हैं, उससे यही लगता है कि जवानों ने ही शिकार किया था. सलमान खान और उनके साथियों ने भी चिंकारा का ही शिकार किया था, जिसके बाद उन्हें सजा सुनाई गई थी. वे अभी जमानत पर है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in