पहला पन्ना >राजनीति >राजस्थान Print | Share This  

भंवरी देवी की हत्या का राज उजागर ?

भंवरी देवी की हत्या का राज उजागर ?

जोधपुर. 2 दिसंबर 2011

भंवरी देवी


लोक गायिका और नर्स भंवरी देवी मामले का राज जल्दी ही उजागर हो सकता है. कहा जा रहा है कि भंवरी देवी की हत्या के समय सोहनलाल ने जो कपड़े पहने थे, खून से सने वे कपड़े सीबीआई ने बरामद कर लिये हैं. भंवरी देवी के ब्लड ग्रूप के मिलान के लिये सीबीआई ने उम्मेद अस्पताल से भंवरी के पुराने कागजातों को निकलवाया है. इससे पहले भंवरी देवी का चेन और लॉकेट भी सीबीआई ने बरामद कर लिया है.

सीबीआई की जांच से जो तथ्य सामने आ रहे हैं, उसके अनुसार सोहनलाल और शहाबुद्दीन ने ही भंवरी देवी का अपहरण किया और उसके बाद उसकी हत्या कर दी.

ज्ञात रहे कि भंवरी देवी एक सितंबर से ही लापता थी. भंवरी देवी ने अपनी कार जल संसाधन विभाग के एक ठेकेदार सोहनलाल विश्नोई को बेची थी. एक सितंबर को वह विश्नोई से कार की रकम लेने के लिए घर से निकली थी, लेकिन उसके बाद वह नहीं लौटी. माना जा रहा है कि राज्य सरकार के कुछ विधायक और मंत्री के साथ भंवरी देवी के कुछ आपत्तिजनक सीडी हैं और इसी कारण से उनका अपहरण किया गया. कहा जाता है कि भंवरी देवी कथित अश्लील सीडी के जरिए लोगों को ब्लैकमेल कर रही थी. ऐसे कई टेप सामने आए हैं, जिससे ब्लैकमेलिंग की बात साबित होती है.

भंवरी देवी के पति अमरचंद का आरोप था कि उसे सरकार के एक कैबिनेट मंत्री ने गायब कराया था. उसका कहना था कि उसकी 37 वर्षीय पत्नी जालीवाड़ा पीपाड़ में एएनएम के पद पर कार्यरत थी. उसने अपने इच्छित स्थान पर तबादला करवाने के लिए राज्य सरकार के मंत्री महिपाल मदेरणा से संपर्क किया. इस पर मदेरणा ने उसका स्थानांतरण तो करवा दिया, लेकिन इसके बाद फोन कर भंवरी को किसी न किसी बहाने बुलाने लगे.

इस मामले में जोधपुर जिले की एक अदालत ने भंवरी देवी के पति के इस्तगासे के आधार पर जलदाय मंत्री महिपाल मदेरणा के खिलाफ भी मामला दर्ज करने के निर्देश पुलिस को दिए थे. बाद में उच्च न्यायालय ने भी सरकार को फटकार लगाई.इसके बाद जब विरोध बढ़ा तो मदेरणा को सरकार ने मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया.