पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >राजस्थान Print | Share This  

भंवरी देवी की हत्या का राज उजागर ?

भंवरी देवी की हत्या का राज उजागर ?

जोधपुर. 2 दिसंबर 2011

भंवरी देवी


लोक गायिका और नर्स भंवरी देवी मामले का राज जल्दी ही उजागर हो सकता है. कहा जा रहा है कि भंवरी देवी की हत्या के समय सोहनलाल ने जो कपड़े पहने थे, खून से सने वे कपड़े सीबीआई ने बरामद कर लिये हैं. भंवरी देवी के ब्लड ग्रूप के मिलान के लिये सीबीआई ने उम्मेद अस्पताल से भंवरी के पुराने कागजातों को निकलवाया है. इससे पहले भंवरी देवी का चेन और लॉकेट भी सीबीआई ने बरामद कर लिया है.

सीबीआई की जांच से जो तथ्य सामने आ रहे हैं, उसके अनुसार सोहनलाल और शहाबुद्दीन ने ही भंवरी देवी का अपहरण किया और उसके बाद उसकी हत्या कर दी.

ज्ञात रहे कि भंवरी देवी एक सितंबर से ही लापता थी. भंवरी देवी ने अपनी कार जल संसाधन विभाग के एक ठेकेदार सोहनलाल विश्नोई को बेची थी. एक सितंबर को वह विश्नोई से कार की रकम लेने के लिए घर से निकली थी, लेकिन उसके बाद वह नहीं लौटी. माना जा रहा है कि राज्य सरकार के कुछ विधायक और मंत्री के साथ भंवरी देवी के कुछ आपत्तिजनक सीडी हैं और इसी कारण से उनका अपहरण किया गया. कहा जाता है कि भंवरी देवी कथित अश्लील सीडी के जरिए लोगों को ब्लैकमेल कर रही थी. ऐसे कई टेप सामने आए हैं, जिससे ब्लैकमेलिंग की बात साबित होती है.

भंवरी देवी के पति अमरचंद का आरोप था कि उसे सरकार के एक कैबिनेट मंत्री ने गायब कराया था. उसका कहना था कि उसकी 37 वर्षीय पत्नी जालीवाड़ा पीपाड़ में एएनएम के पद पर कार्यरत थी. उसने अपने इच्छित स्थान पर तबादला करवाने के लिए राज्य सरकार के मंत्री महिपाल मदेरणा से संपर्क किया. इस पर मदेरणा ने उसका स्थानांतरण तो करवा दिया, लेकिन इसके बाद फोन कर भंवरी को किसी न किसी बहाने बुलाने लगे.

इस मामले में जोधपुर जिले की एक अदालत ने भंवरी देवी के पति के इस्तगासे के आधार पर जलदाय मंत्री महिपाल मदेरणा के खिलाफ भी मामला दर्ज करने के निर्देश पुलिस को दिए थे. बाद में उच्च न्यायालय ने भी सरकार को फटकार लगाई.इसके बाद जब विरोध बढ़ा तो मदेरणा को सरकार ने मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

rama shankar singh [] ara - 2011-12-02 10:02:29

 
  कोई फायदा नहीं होने वाला. सोचो, एक केस में इतना समय लगाना सही है? नहीं न! सोचिए कि सरकार का कितना पैसा खर्च हो गया होगा. जितने लोगों को इस केस की जांच के लिये लगाया गया है, जरा उन पर होने वाले खर्चों के बारे में सोचें. उनपर होने वाले दूसरे खर्चों के बिल निकलवाएं. 
   
 

jagmer singh [] ludhiana - 2011-12-02 08:38:07

 
  Welldone by C.B.I. . Thanks to c.b.i. 
   
 

Jitendra Singh [] Alwar - 2011-12-02 06:28:13

 
  It is not a final FR to Vabhari Devi case by the C B I report on today. I want to full inqury with all the member\'s of this cogress goverment. these member\'s are totaly money saver person of gov,not a clear politcian. The High Court of Rajasthan should to be ordered to C B I send a clear reports of the Vabhari Devi accident.  
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in