पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >कला >संस्मरण Print | Share This  

सदाबहार हीरो देवानंद का निधन

सदाबहार हीरो देवानंद का निधन

लंदन. 4 दिसंबर 2011

देवानंद


बॉलीवुड के सदाबहार अभिनेता और निर्माता-निर्देशक देवानंद का दिल का दौरा पड़ने से रविवार की सुबह लंदन में निधन हो गया. वे 88 साल के थे.

26 सितंबर 1923 को अविभाजित भारत के गुरुदासपुर में जन्मे देवानंद ने लाहौर के गवर्नमेंट कॉलेज से अंग्रेजी (आनर्स) किया. इसके बाद वे उच्च शिक्षा हासिल करना चाहते थे लेकिन पिता के पास इतने पैसे नहीं थे. परिवार की कमजोर आर्थिक स्थिति को देखते हुए वे पिता की इच्छा के विपरीत बॉम्बे आ गए.

गायक बनने का सपना लेकर बॉम्बे पहुंचे देवानंद अभिनेता बन गए. इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़ कर नहीं देखा. अभिनेता के तौर पर देवानंद के करियर की शुरुआत वर्ष 1946 में ‘हम एक हैं’ फिल्म से हुई थी. इस फिल्म में देवानंद के अभिनय की जमकर तारी़फ हुई. इसके बाद तो देवानंद उस दौर के दो सबसे सफल हीरो, दिलीप कुमार और राजकपूर के साथ फिल्म निर्माताओं की पहली पसंद बन गए.

50 के दशक में फिल्म 'सीआईडी', 'पेइंग गेस्ट', 'बाजी', 'टैक्सी ड्राइवर', 'फंटुश', 'नौ दो ग्यारह' और 'काला पानी' जैसी फिल्मों ने उन्हें जबरदस्त पहचान दिलाई. 70 के दशक में आई देवानंद की फिल्म 'गाइड' ने जैसे एक क्रांति पैदा कर दी. इस फिल्म का निर्देशन देव आनंद के छोटे भाई गोल्डी किया था, जो खुद भी एक अभिनेता थे.

देवानंद की फिल्मों के विषय अत्यंत व्यापक रहे. गाइड, हम दोनों, और प्रेम पुजारी जैसी फिल्मों में जो किरदार देवानंद ने निभाए, उसे कौन भूल सकता है. हिंदी फिल्म उद्योग को देवानंद ने जीनत अमान और टीना मुनीम जैसी अभिनेत्रियों को सामने लाए. देवानंद ने हरे रामा हरे कृष्णा में जीनत को बतौर अभिनेत्री मौका दिया.

उन्होंने पांच दशकों में सुरैया, गीताबाली, मधुबाला, मीना कुमारी, नूतन, वैजंतीमाला, मुमताज, हेमा मालिनी, वहीदा रहमान से लेकर मधुबाला और जीनत अमान तक सभी उत्कृष्ट नायिकाओं के साथ अभिनय किया और हर अभिनेत्री के साथ उनकी जोड़ी को खूब सराहा गया.

उन्होंने वर्ष 1949 में अपनी प्रोडक्शन कंपनी 'नवकेतन इंटरनेशनल फिल्म' की स्थापना की और 35 से ज्यादा फिल्मों का निर्माण किया. फिल्म निर्माण में उतरे देवानंद ने कई नई प्रतिभाओं टीना मुनीम से लेकर तब्बू तक का फिल्मी दुनिया से साक्षात्कार कराया. उन्होंने फिल्म निर्देशन में भी हाथ आज़माया और फिल्म प्रेम-पुजारी का निर्देशन किया.

देवानंद की फिल्में गाइड, काला पानी, हरे रामा हरे कृष्णा, काला बाज़ार और जब प्यार किसी से होता है वगैरह हिंदी फिल्म निर्माण के क्षेत्र में मील का पत्थर हैं. 'गाइड', 'मुनीम जी', 'सीआईडी' जैसी बेहतरीन फिल्में देने वाले देवानंद को फाल्के रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है.

देवानंद ने दो फिल्मफेयर पुरस्कार जीते. एक वर्ष 1958 में 'काला पानी' के लिए और दूसरा 1966 में 'गाइड' में अपने अभिनय के लिए. 'गाइड' को 'सर्वश्रेष्ठ फिल्म' और 'सर्वश्रेष्ठ निर्देशक' सहित पांच श्रेणियों में फिल्मफेयर पुरस्कार मिला और उस वर्ष ऑस्कर की विदेशी फिल्म की श्रेणी में भारत की तरफ से यह फिल्म भेजी गई थी. उन्होंने नोबेल पुरस्कार से सम्मानित पर्ल एस बक के साथ 'गाइड' के अंग्रेजी संस्करण का "द गुड अर्थ" का सह निर्माण भी किया. भारतीय सिनेमा में उल्लेखनीय योगदान देने वाले देवानंद को 2001 में पद्म भूषण और 2002 में दादासाहेब फाल्के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया.

वर्ष 1993 में उन्हें फिल्मफेयर 'लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड' और 1996 में स्क्रीन वीडियोकॉन 'लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड' से सम्मानित किया गया. बाद में उन्होंने अमेरिकी फिल्म 'सांग ऑफ लाइफ' का निर्देशन भी किया. प्रेम कहानी पर आधारित इस संगीतमय फिल्म की शूटिंग अमेरिका में हुई. फिल्म में मुख्य भूमिका देवानंद ने निभाई जबकि अन्य सभी कलाकार अमेरिकी थे.

देवानंद तीन भाई थे. उनके दोनों भाई विजय आनंद और चेतन आनंद भी कुछ वर्षों पहले दुनिया को अलविदा कह चुके हैं. उनकी बहन का नाम शील कांता कपूर है जो प्रख्यात फिल्म निर्देशक शेखर कपूर की मां हैं.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in