पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

गूगल नहीं हटाएगी विवादास्पद सामग्री

गूगल नहीं हटाएगी विवादास्पद सामग्री

नई दिल्ली. 7 दिसंबर 2011

गूगल


दुनिया की सर्वाधिक लोकप्रिय सर्च इंजन और इंटरनेट सुविधा प्रदाता कंपनी गूगल इंडिया ने कहा है कि गूगल कोई भी सामग्री केवल इसलिये अपनी वेब साईट से नहीं हटाएगी क्योंकि वह विवादास्पद है. गूगल का कहना है कि जब तक लोगों के विचार कानून की सीमा में हैं, उनका सम्मान होना चाहिए और उनकी रक्षा होनी चाहिए.

गौरतलब है कि भारत के संचार मंत्री कपिल सिब्बल ने गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, फेसबुक और याहू जैसी विभिन्न कंपनियों के प्रतिनिधियों को बुलाकर यह आदेश दिया था कि सोशल नेटवर्किंग साइटों और इसी तरह की अन्य साइटों से ऐसी तमाम सामग्री हटा ली जाये, जिससे किसी का अपमान होता है. सिब्बल का आरोप है कि सोशल नेटवर्किंग साइटों ने इस मसले पर सहयोग करने से मना कर दिया. मंगलवार को उन्होंने अपनी बात को एक बार फिर दोहराते हुए कहा कि आपत्तिजनक सामग्री इंटरनेट से हंटनी चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि किसी को भी धार्मिक भावना को ठेंस पहुंचाने की भी अनुमति किसी को नहीं दी जाएगी.

केंद्र सरकार के इस कदम को लेकर देश भर में बवाल मचा हुआ है और इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता से जोड़कर देखा जा रहा है. सरकार के इस रव्वैये के बाद भारत में लगभग 10 करोड़ उपयोगकर्ताओं वाले गूगल इंडिया ने कहा है कि हम पूरी कोशिश करते हैं कि कानून का पालन करते हुए जानकारी तक लोगों की ज्यादा से ज्यादा पहुंच हो. इसका मतलब है कि जब कोई चीज़ गैरकानूनी होती है तो हम स्थानीय कानूनों का पालन करते हैं और इसे हटा लेते हैं और जब कंटेंट कानूनी हो और हमारी नीतियों के खिलाफ नहीं हो तो हम इसे सिर्फ इसलिए ही नहीं हटा देंगे क्योंकि ये विवादित है.

गूगल इंडिया ने अपने बयान में कहा है कि हमारा मानना है कि जब तक लोगों के विचार कानून की सीमा में हैं उनका सम्मान होना चाहिए और उनकी रक्षा होनी चाहिए.