पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

हार्वर्ड विश्वविद्यालय ने सुब्रह्मण्यम स्वामी के पाठ्यक्रम हटाये

हार्वर्ड विश्वविद्यालय ने सुब्रह्मण्यम स्वामी के पाठ्यक्रम हटाये

नई दिल्ली. 8 दिसंबर 2011

सुब्रह्मण्यम स्वामी


जनता पार्टी के अध्यक्ष सुब्रह्मण्यम स्वामी के विचारों की निंदा करते हुये अमरीका के सुप्रसिद्ध हार्वर्ड विश्वविद्यालय ने उन सभी पाठ्यक्रमों को हटाने का निर्णय लिया है, जिन्हें सुब्रह्मण्यम स्वामी पढ़ाते रहे हैं. यहां सुब्रह्मण्यम स्वामी अर्थशास्त्र की कक्षाओं में अध्यापन करते रहे हैं.

गौरतलब है कि सुब्रह्मण्यम स्वामी ने मुंबई में 13 जुलाई को हुये हमले के बाद इस साल 16 जुलाई को एक अखबार में भारत में कथित इस्लामी आतंकवाद को भारतीय सुरक्षा की दृष्टि से सबसे बड़ा खतरा बताते हुये एक लेख में कहा था कि उन सभी मस्जिदों को तोड़ा जाना चाहिये, जिन्हें मंदिरों को तोड़ कर बनाया गया है. इसके अलावा उन्होंने अपने पूर्वजों को हिंदू न मानने वाले मुसलमानों और दूसरे मजहब के लोगों से मतदान का अधिकार भी छिने जाने की वकालत की थी.

सुब्रह्मण्यम स्वामी के इस आलेख के बाद से ही उनके खिलाफ विरोध का सिलसिला शुरु हो गया था. हार्वर्ड विश्वविद्यालय में सैकड़ों छात्रों और प्राध्यापकों ने प्रबंधन से अपील की थी कि सुब्रह्मण्यम स्वामी को विश्वविद्यालय में पढ़ाने से रोक लगाई जानी चाहिये. इस मुद्दे पर विश्वविद्यालय की बुधवार को हुई बैठक में जोरदार बहस हुई और अंततः स्वामी द्वारा पढ़ाये जाने वाले विषयों को हटाने का निर्णय लिया गया.

हार्वर्ड विश्वविद्यालय के इस निर्णय पर नाराजगी जताते हुये सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा है कि इस पूरे प्रसंग में खतरनाक बात ये है कि हार्वर्ड विश्वविद्यालय अपने प्रोफेसरों के कहीं भी लिखे गए लेख के लिए ज़िम्मेदार ठहरा रहा है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

KANWR PAL SINGH ADVOCATE [ahlwatkpsingh0000@gmail.com] MEERUT - 2011-12-08 15:16:10

 
  Removal syllabus concerning Subramnayam swami in the Harward University is privilege of the University. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in