पहला पन्ना >राजनीति >पश्चिम Print | Share This  

जिंदगी नहीं, मौत मिली अस्पताल में

जिंदगी नहीं, मौत मिली अस्पताल में

कोलकाता. 9 दिसंबर 2011

एएमआरआई अस्पताल


कोलकाता के एएमआरआई अस्पताल में भर्ती लोगों ने सपने में भी नहीं सोचा था कि जिस अस्पताल में वे अपने इलाज के लिये जा रहे हैं, वहां उन्हें जिंदगी के बजाये मौत मिलेगी. शुक्रवार तड़के शहर के धकुरिया स्थित सुप्रसिद्ध एएमआरआई अस्पताल में लगी आग में अब तक 40 लोगों के मारे जाने की खबर है. हालांकि सुबह 10 बजे तक अस्पताल प्रबंधन ने 16 लोगों के मारे जाने की बात कही थी लेकिन मृतकों की संख्या में और इजाफा होने की आशंका से अस्पताल ने इंकार नहीं किया है.

राज्य की मुख्यमंत्री ने घटनास्थल पर पहुंचने के बाद पूरे मामले की जांच के आदेश दिये हैं. उन्होंने मृतकों के परिजनों को तत्काल 2-2 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है. उन्होंने आशंका जताई है कि इस निजी अस्पताल में शार्ट शर्किट के कारण यह आग लगी.

शुक्रवार को तड़के जब अधिकांश मरीज और उनके परिजन सो रहे थे, उसी समय इस बहुमंजिली अस्पताल में आग लग गई और देखते ही देखते आग चौंथी मंजिल तक पहुंच गई. घटनास्थल पर पहुंची दमकल विभाग की 25 गाड़ियां सुबह 11 बजे तक आग को बुझा पाने में सफल नहीं हो पाई थीं. घटना स्थल पर अफरा-तफरी का माहौल था और अस्पताल में अंदर फंसे लोगों के परिजन इस बात से बेहद नाराज थे कि उन्हें अस्पताल प्रबंधन द्वारा जानकारी नहीं दी जा रही है.

इधर अस्पताल प्रबंधन ने दमकल विभाग के सहयोग से कई लोगों को आग से बाहर निकाला है, जिनका आसपास के अस्पतालों में इलाज चल रहा है. हालांकि अस्पताल की इमारत में कई लोगों के फंसे होने की बात प्रबंधन ने भी स्वीकार की है.