पहला पन्ना >राजनीति >उ.प्र. Print | Share This  

हत्या के मामले में बसपा सांसद धनंजय सिंह गिरफ्तार

हत्या के मामले में बसपा सांसद धनंजय सिंह गिरफ्तार

लखनऊ. 12 दिसंबर 2011

धनंजय सिंह


बसपा सांसद धनंजय सिंह की बसपा से विदाई और फिर वापसी के बाद राज्य सरकार ने अब उन्हें सत्ता का खेल दिखाना शुरु कर दिया है. रविवार को उन्हें हत्या के एक पुराने मामले में गिरफ्तार किया गया. लखनऊ से गिरफ्तारी के मामले में पुलिस ने कहा कि उन्हें जौनपुर हत्याकांड के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है. लेकिन माना जा रहा है कि धनंजय सिंह पर कुछ दूसरे आरोप भी पुलिस सामने ला सकती है.

गौरतलब है कि धनंजय सिंह ही वह सांसद थे, जिन्होंने कैश फॉर वोट के मामले में जेल जा कर अमर सिंह से मुलाकात की थी और बसपा की ओर से बयान भी दिया था. बाद में पार्टी ने सितंबर में उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था. बसपा ने आरोप लगाया था कि धनंजय सिंह ने बसपा से गुड़ों को जोड़ा और कई निधियों का घोटाला भी किया है. बसपा ने अपने ही सांसद पर आरोप मढ़ा था कि वे गरीब जनता को प्रताड़ित करते हैं. बाद में जब धनंजय सिंह के साथ आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी हुआ तो पार्टी में उनकी फिर से वापसी हो गई.

लोकसभा चुनाव के समय उनके विरोधी उम्मीदवार बहादुर सोनकर की कथित आत्महत्या के बाद धनंजय सिंह पर ही आरोप लगा था कि उनके ही कारण बहादुर सोनकर की जान चली गई. डाक्टर सचान हत्याकांड, सीएमओ डाक्टर बीपी सिंह हत्याकांड जैसे मामले में भी सांसद का नाम उछला था. लेकिन सरकारी शह पर वे बचते रहे.

अब रविवार को उनकी गिरफ्तार के बाद उनकी उल्टी गिनती शुरु हो गयी. लखनऊ के डीआईजी ने कहा कि बसपा सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ जौनपुर जिले के केराकत थाना में हत्या का मामला दर्ज है, जिसमें इनकी गिरफ्तारी की गई है. गिरफ्तारी के बाद धनंजय सिंह को जौनपुर ले जाया गया, जहां उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज है.

इधर राज्य के पुलिस महानिदेशक पर हत्या की साजिश रचना का आरोप लगाने वाले धनंजय सिंह ने कहा कि बसपा की सरकार उनसे बदला निकाल रही है. उन्होंने कहा कि अमर सिंह से मिलना और सच बोलना उनके लिये मुश्किल का कारण बना.