पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

चीन करेगा भारत पर हमला, पीएम का इंकार

चीन करेगा भारत पर हमला, पीएम का इंकार

दिल्ली. 14 दिसंबर 2011

मनमोहन सिंह


चीन के प्रधानमंत्री द्वारा अपनी सेना को युद्ध के लिये तैयार रहने की घोषणाओं के बीच भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि उनकी सरकार इस तरह की बातों से सहमत नहीं है कि चीन भारत पर किसी तरह के हमले की योजना बना रहा है. सीमा को लेकर अगर दोनों देश के बीच किसी तरह के विवाद हैं भी तो उसे बातचीत से सुलझाया जा सकता है.

बुधवार को लोकसभा में देश के पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने यह जानकारी रख कर सनसनी फैला दी कि उनके पास ऐसी सूचना है कि चीन आने वाले दिनों में भारत पर हमला कर सकता है. उन्होंने यह भी कहा कि चीन ने भारत पर हमला करने के लिये कुछ इलाकों को चिन्हांकित भी कर लिया है. इसकी शुरुवात के बतौर चीन ने ब्रह्मपुत्र नदी के पानी के बहाव को रोक लिया है.

मुलायम सिंह यादव की इन जानकारियों के बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि चीन से सटे भारत की सीमाओं पर शांति बनी हुई है और ऐसी कोई स्थिति नहीं है कि चीन हमारे देश पर हमला कर सकता है. हालांकि उन्होंने माना कि चीन ने भारतीय सीमाओं में घुसपैठ की कोशिश की है और भारत के कई इलाकों पर अपना दावा किया है. चीन के इस दावे को लेकर भारत ने विरोध भी दर्शाया है लेकिन चीन भारत के दावे को लेकर इंकार कर रहा है.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि चीन के साथ बातचीत के रास्ते से सारे विवादों को सुलझाने की कोशिश हो रही है. चीन ने भारत सरकार को इस बात के लिये आश्वस्त किया है कि ब्रह्मपुत्र का पानी वह नहीं रोकेगा. प्रधानमंत्री ने माना कि पिछले कुछ सालों में चीन के साथ हुई बातचीत में कोई खास प्रगति नहीं हुई है.

गौरतलब है कि सप्ताह भर पहले सैन्य अधिकारियों के साथ एक बैठक में चीन के राष्ट्रपति हू जिंताओ ने कहा था कि दक्षिण चीन सागर को लेकर चीन का दावा अपनी जगह सही है. उन्होंने कहा था कि अब समय आ गया है कि नौसेना अपनी क्षमताओं में शीघ्रता से विकास करे. फ़ोर्ब्स द्वारा दुनिया के सर्वाधिक शक्तिशाली घोषित हू जिंताओ ने कहा था कि देश की सुरक्षा और योगदान की दृष्टि से सेना को अब युद्ध के लिये तैयार रहना चाहिये.