पहला पन्ना >राजनीति >उ.प्र. Print | Share This  

मुसलमानों की भलाई केवल बसपा ने देखी-मायावती

मुसलमानों की भलाई केवल बसपा ने देखी-मायावती

लखनऊ. 18 दिसंबर 2011

मायावती


बसपा सुप्रीमो मायावती ने सवर्णों के बाद अब मुस्लिम कार्ड के पत्ते फेंकते हुये कहा है कि संविधान में संशोधन करके ओबीसी वर्ग में 27 प्रतिशत आरक्षण के नियम को बदला जाना चाहिये. लखनऊ में एक जातिवादी महासम्मेलन में उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुये कहा कि कांग्रेस के राज में केवल मुसलमानों का शोषण हुआ है.

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि बसपा सरकार मुसलमानों को आरक्षण दिए जाने के हक में है. उन्होंने कहा कि एक राष्ट्रीय नीति का निर्माण करते हुये केन्द्र सरकार को संविधान में परिवर्तन कर 27 प्रतीशत ओबीसी आरक्षण को बढ़ाना चाहिए और बहुजन समाज पार्टी इसका समर्थन करेगी.

मायावती ने कहा कि मुरादाबाद और मेरठ जैसे शहरों में कांग्रेस के शासन में दंगे हुए. मायावती ने अलीगढ़ और जमशेदपुर के दंगों को भी याद करते हुये कहा कि कांग्रेस के शासन में मुसलमानों का सशक्तिकरण नही हुआ है. बाबरी मस्जिद मामले में भूमिका रखने वाली आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी के प्रति कांग्रेस का रवैया नर्म रहा है.

बहुजन समाज पार्टी को मुसलमानों का हितैषी बताते हुये मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हमेशा मुसलमानों को हर क्षेत्र में प्राथमिकता दी।.केंद्र सरकार के अपेक्षित सहयोग के बिना ही मुसलमानों को कई तरह की सुविधाएं दी। प्रदेश में अमन-चैन कायम करने में बसपा सरकार की अहम भूमिका रही. बसपा कहने में नहीं, करने में यकीन करती है.