पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

बेंगलुरू ब्लास्ट में मदनी को जमानत नहीं

बेंगलुरू ब्लास्ट में मदनी को जमानत नहीं

नई दिल्ली. 3 जनवरी 2012

अब्दुल नाजिर मदनी


बेंगलुरु ब्लास्ट के आरोपी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष अब्दुल नाजिर मदनी को अभी जेल में ही रहना पड़ेगा. उन्हें इलाज के लिये केरल जाने की भी इजाजत नहीं मिली है. बेंगलुरु ब्लास्ट के मामले में मंगलवार को उनकी जमानत याचिका उच्चतम न्यायालय ने खारिज कर दी.

2008 के बेंगलुरु ब्लास्ट में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 15 अन्य घायल हो गए थे. इस मामले में 17 अगस्त, 2010 को गिरफ्तार किये गये अब्दुल नाजिर मदनी की जमानत पर सुनवाई करते हुये अदालत ने कहा कि मदनी के खिलाफ जितने गंभीर आरोप हैं, उसके मद्देनजर उन्हें जमानत नहीं दी जा सकती. जस्टिस पी. सतशिवम की खंडपीठ ने मदनी को केरल भेजने और कर्नाटक सरकार को मदनी के इलाज करने के निर्देश देने की याचिका भी खारिज कर दी.

इधर मदनी की जमानत याचिका खारिज किये जाने के बाद पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता पूंथुरा सिराज ने फैसले को दुर्भाग्यजनक बताते हुये कहा कि इस देश में कोई मदनी की तरह पीड़ा न झेले. उन्होंने कहा कि दो दिन बाद पार्टी ने कोच्ची में बैठक बुलाई है. सिराज ने कहा कि हम मदनी की न्याय के लिये अपनी लड़ाई जारी रखेंगे.

उन्होंने अब्दुल नाजिर मदनी की स्थिति पर टिप्पणी करते हुये कहा कि ऐसा लगता है कि एक और कोयम्बटूर मामला बनने जा रहा है. गौरतलब है कि वर्ष 1998 में कोयम्बटूर में हुए सिलसिलेवार बम विस्फोट के सिलसिले में गिरफ्तार मदनी 1998 से 2007 के बीच जेल में रहे थे.