पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >अर्थ >दिल्ली Print | Share This  

कार नहीं है बजाज की आरई 60

कार नहीं है बजाज की आरई 60

नई दिल्ली. 4 जनवरी 2012

आरई 60


बजाज कंपनी ने साफ किया है कि आरई 60 टाटा नैनो की तरह कोई कार नहीं है. यह एक चारपहिया वाहन है. कंपनी के प्रबंध निदेशक राजीव बजाज ने स्पष्ट कहा है कि हम ऐसे ग्राहकों को लक्षित कर रहे हैं, जो फिलहाल तिपहिया वाहन चलाते हैं. ऐसे लोगों को हम प्रेरित करेंगे कि वे इस कम उत्सर्जन वाली चारपहिया गाड़ी का इस्तेमाल करें.

हालांकि राजीव बजाज ने इसे ऑटो का परिस्कृत मॉडल कहने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि यह कार नहीं है, इसे आप एक नया वाहन कह सकते हैं. बजाज की आरई 60 को लेकर इस बात की उत्सुकता बनी हुई है कि आखिर इसकी कीमत क्या होगी. आम लोगों में बजाज की इस आरई 60 को लेकर इसलिये दिलचस्पी है, क्योंकि इस चारपहिया को लेकर बजाज ने दावा किया है कि यह एक लीटर पेट्रोल में 35 किलोमीटर का सफर तय करेगी.

गौरतलब है कि बजाज ने दावा किया है कि इस गाड़ी का इंजन पूरी तरह से बजाज ने ही तैयार किया है. इस गाड़ी के प्रति किलोमीटर चलने से मात्र 60 ग्राम कार्बन डाइऑक्साइड निकलती है, जिसके कारण इसका नाम आरई 60 रखा गया है. कंपनी का दावा है कि यह सबसे कम उत्सर्जन करने वाली चारपहिया है. कंपनी का दावा है कि यह नये जमाने के हिसाब से सबसे आधुनिक सुविधाओं वाली कार है. माना जा रहा है कि इसकी कीमत टाटा के नैनो के आसपास ही रखी जाएगी.

बजाज की आरई 60 की रफ्तार 70 किलोमीटर प्रति घंटे की है और इसका 200 सीसी का इंजन टाटा नैनो की तरह ही गाड़ी के पिछले हिस्से में लगाया गया है. राजीव बजाज के अनुसार यह पेट्रोल, सीएनजी और एलएनजी के तीन ईंधन विकल्पों में उपलब्ध होगा. इस प्रकार के चौपहिया वाहनों का यूरोप, अफ्रीका और एशिया में बहुत बड़ा बाजार हो सकता है. बजाज ने कहा कि वाहन का विकास करने में चार साल लगे.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

kailash nagar [nagar.kailash@yahoo.in] jawad - 2012-01-04 12:14:01

 
  its very good looking car. 
   
 

Sawan Soni [sawanswadha@yahoo.com] Indore - 2012-01-04 09:02:20

 
  its good look better then Tata nano.... 
   
 

deepak [www.deepak 412249@gmail.com] hisar - 2012-01-04 09:00:23

 
  this is very nice car when we got it,  
   
 

sunil deshwal [deshwal.sunilkumar@gmsil.com] haryana(palwal) - 2012-01-04 08:56:35

 
  this car is very good than nano car ,u launch this car early
look is beautiful like a waganar.
 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in