पहला पन्ना >राजनीति >पाकिस्तान Print | Share This  

पाकिस्तानी झंडा फहराने वाले 6 संघी गिरफ्तार

पाकिस्तानी झंडा फहराने वाले 6 संघी गिरफ्तार

बेंगलुरु. 6 जनवरी 2012

6 संघी


कर्नाटक की भाजपा सरकार ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और श्रीराम सेना के आधा दर्जन लोगों को पाकिस्तानी झंडा फहराकर दंगा भड़काने की कोशिश के आरोप में गिरफ्तार किया है. दूसरे दिन झंडा फहराए जाने के खिलाफ बजरंग दल और श्रीराम सेना समेत अनेक संगठनों ने बंद का आव्हान किया था. इधर श्रीराम सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रमोद मुतालिक ने कहा है कि गिरफ्तार किए गए लोग राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सदस्य हैं.

पुलिस ने बीजापुर जिले के सिंदगी कस्बे में एक जनवरी को तहसीलदार के कार्यालय पर पाकिस्तानी
झंडा फहराने के जुर्म में 18-20 साल उम्र के 6 लोगों को गिरफ्तार किया. पुलिस अधीक्षक डी सी राजप्पा ने श्रीराम सेना पर मुस्लिम बहुल सिंदगी में कौमी तनाव पैदा करने के लिए यह करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने कहा कि पकड़ाए हुए लोगों में श्रीराम सेना का छात्र इकाई अध्यक्ष राजेश सिद्धारमैया मथा भी शामिल है.

इंडिया टुडे के मुताबिक बीजापुर के पुलिस अधीक्षक डी सी राजप्पा ने कहा कि गिरफ्तार तमाम युवकों ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है. वह जनवरी के बीच कुछ दिनों के लिए अपना ठिकाना बदल कर गोवा चले जाने वाले थे. उन्होंने सिंदगी में अपने एक साथी के घर पर पाकिस्तानी झंडा सिया था.

उन्होंने कहा कि 31 दिसम्बर की रात झंडा फहराने की घटना की हफ्ते पहले से तैयारी चल रही थी. राजप्पा ने इंडिया टुडे को बताया कि झंडा फहराने की अगली सुबह अभियुक्त घटना स्थल पर आए और विरोध प्रदर्शन किया, सरकारी बस पर पत्थर मारे और इसके लिए जिम्मेदार व्व्यक्तियों की गिरफ्तारी के लिए प्रदर्शन भी किया था. यही नहीं, उन्होंने घटनास्थल का दौरा करने वाले बीजापुर के पुलिस अधीक्षक और अन्य अधिकारियों से झूमा झटकी करने की कोशिश भी की थी.

राजप्पा ने कहा कि उनका इरादा साफ तौर पर कौमी तनाव खड़ाकर अपने अभियान का प्रचार करना था. घटना के चार दिन बाद गुरुवार को पकड़ाए सभी युवा सेना की युवा शाखा के सदस्य हैं. इनका एक 20 वर्षीय साथी अरुण वाघमोरे फरार है. उन्होंने कहा कि इसमें सेना का कोई नेता भी शामिल था या नहीं इसकी जांच चल रही है.

इधर श्रीराम सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रमोद मुतालिक ने कहा है कि सिंदगी तालुका कार्यालय में पाकिस्तानी झंडा फहराने के लिऐ गिरफ्तार किए गए लोग उनके संगठन के नहीं वरन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सदस्य हैं. मुतालिक ने पकड़ाए हुए लोगों की पहचान के बारे में खामोश रहने के लिए बीजापुर पुलिस अधीक्षक की आलोचना की. उन्होंने पुलिस को पकड़ाए हुए व्यक्तियों में से एक राकेश सिद्धारमैया को श्रीराम सेना की छात्र इकाई का अध्यक्ष साबित करने की चुनौती दी. मुतालिक ने पकड़ाए हुए तमाम व्यक्तियों के संघ परिवार का सदस्य होने का सुबूत रखने का दावा करते हुए कहा कि वह जल्द ही यह सुबूत पेश करेंगे.