पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >साहित्य >मध्यप्रदेश Print | Share This  

बृजलाल द्विवेदी पत्रकारिता सम्मान हेतु भारद्वाज को

बृजलाल द्विवेदी पत्रकारिता सम्मान हेतु भारद्वाज को

भोपाल. 11 जनवरी 2012

हेतु भारद्वाज


हिंदी की साहित्यिक पत्रकारिता को सम्मानित किए जाने के लिए दिया जाने वाला पं. बृजलाल द्विवेदी अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान इस वर्ष अक्सर, जयपुर के संपादक डा. हेतु भारद्वाज को दिया जाएगा. डा. हेतु भारद्वाज साहित्यिक पत्रकारिता के एक महत्वपूर्ण हस्ताक्षर हैं और अक्सर से पहले वे ‘समय माजरा’ के भी संपादक रहे हैं.

15, जनवरी, 1937 को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में जन्में डाक्टर हेतु भारद्वाज की तीन कमरों का मकान, ज़मीन से हटकर, चीफ साहब आ रहे हैं, तीर्थ यात्रा, सुबह-सुबह, पटाक्षेप नहीं होगा, रास्ते बंद नहीं होते जैसे कहानी संग्रह के अलावा परिवेश की चुनौतियां और साहित्य, हिन्दी कहानी में मानव प्रतिमान, संस्कृति और साहित्य जैसी आलोचना की लगभग दर्जन भर किताबें प्रकाशित हुई हैं. डाक्टर भारद्वाज का उपन्यास बनती बिगड़ती लकीरें हिंदी के महत्वपूर्ण उपन्यासों में माना जाता है. लेखन के लिये डाक्टर हेतु भारद्वाज को राजस्थान साहित्य अकादेमी का 'कथा पुरस्कार' और विशिष्ट साहित्यकार सम्मान भी दिया जा चुका है.

पं. बृजलाल द्विवेदी अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान के निर्णायक मंडल में विश्वनाथ सचदेव, विजयदत्त श्रीधर, गिरीश पंकज, रमेश नैयर और सच्चिदानंद जोशी शामिल थे.

इसके पूर्व यह सम्मान वीणा, इंदौर के संपादक स्व. श्यामसुंदर व्यास, दस्तावेज, गोरखपुर के संपादक विश्वनाथ प्रसाद तिवारी एवं कथादेश, दिल्ली के संपादक हरिनारायण को दिया जा चुका है.

त्रैमासिक पत्रिका मीडिया विमर्श द्वारा प्रारंभ किए गए इस अखिल भारतीय सम्मान के तहत साहित्यिक पत्रकारिता के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान करने वाले संपादक को ग्यारह हजार रूपए, शाल, श्रीफल, प्रतीकचिन्ह और सम्मान पत्र से अलंकृत किया जाता है. अब तक यह सम्मान समारोह इंदौर, रायपुर, बिलासपुर में आयोजित किया जा चुका है.

इस बार सम्मान कार्यक्रम भोपाल में 7, फरवरी, 2012 को आयोजित किया गया है. मीडिया विमर्श पत्रिका के कार्यकारी संपादक संजय द्विवेदी ने बताया कि आयोजन में अनेक साहित्कार, बुद्धिजीवी और पत्रकार हिस्सा लेगें. इस अवसर ‘साहित्यिक पत्रकारिता का भविष्य’ विषय पर व्याख्यान भी आयोजित किया जाएगा.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in