पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

यह सांप्रदायिक दंगे की साजिश है-रामदेव

यह सांप्रदायिक दंगे की साजिश है-रामदेव

नई दिल्ली. 14 जनवरी 2012

बाबा रामदेव


बाबा रामदेव ने अपने ऊपर काली स्याही फेंकने की घटना को एक साजिश करार देते हुये कहा है कि अल्पसंख्यक समाज के एक व्यक्ति को तैयार कर एक भगवाधारी पर स्याही फिंकवाई गई है. यह सांप्रदायिक दंगे करवाने की साजिश है. उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले की जांच की जानी चाहिये. बाबा रामदेव ने कहा कि वे इस तरह की घटनाओं से डरने वाले नहीं हैं और स्हायी फेंककर आप किसी का चरित्र काला नहीं कर सकते. रामदेव ने कहा कि जिस व्यक्ति ने अपना पूरी जीवन भष्टाचार के खिलाफ मुहिम को समर्पित कर दिया है, उसे काली स्याही से विचलित नहीं किया जा सकता.

गौरतलब है कि शनिवार को कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में जब बाबा रामदेव पत्रकारों से बातचीत करके जाने वाले थे, उसी समय कामरान सिद्धीकी ने बाबा रामदेव से बाटला हाउस को लेकर सवाल पूछा लेकिन बाबा रामदेव उसके सवाल को अनदेखा कर गये. इसके बाद कामरान ने अपने पास रखी काली स्याही बाबा रामदेव के चेहरे पर फेंक दी. कामरान का निशाना सधा हुआ था और स्याही सीधे बाबा रामदेव के चेहरे पर पड़ी और उनका चेहरा काला हो गया. आनन-फानन में बाबा रामदेव के समर्थकों ने कामरान को पकड़ा और बाबा रामदेव के सामने ही उसकी जम कर धुनाई कर दी. बाद में घायलावस्था में कामरान को पुलिस के हवाले किया गया.

बाबा रामदेव ने कहा कि मेरे कार्यकर्ता भी अल्पसंख्यक हैं. अल्पसंख्यक समाज से मेरा कोई वैमनस्य नहीं है. अगर अल्पसंख्यक समुदाय को बटला हाउस पर किसी से आपत्ति हो सकती है, तो वह खुद गृहमंत्री ही हैं. उन्होंने इस मुठभेड़ को सही ठहराया है. मेरा बटला हाउस से क्या लेना देना है ?

बाबा रामदेव ने कहा कि मेरे ऊपर स्याही फेंकने वाले शख्स को यह कैसे पता चला कि मैं बटला हाउस पर बोलूंगा. वह तो स्याही वगैरह लेकर पूरी तैयारी से आया था. इसलिए मुझे इसमें साजिश लग रही है. बाबा रामदेव ने कहा कि इस मामले की जांच होनी चाहिए. क्या इस घटना से उन पर असर पड़ेगा? इस सवाल के जवाब में बाबा रामदेव ने कहा कि इस घटना से उनके आंदोलन पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

इधर पता चला है कि बाबा रामदेव के मुंह पर काली स्याही फेंक कर उनका चेहरा काला करने वाला कामरान सिद्धीकी एक एनजीओ रियल कॉज का संचालन करता है. बाटला हाउस फर्जी मुठभेड़ मामले में दायर याचिका में रियल कॉज भी एक याचिकाकर्ता है.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Murari Pareek [janimurari@yahoo.co.in] Guwahati - 2012-05-30 01:42:45

 
  जाँच तो होनी चाहिए लेकिन बाबा कौन करे जाँच ? वही जांचने वाले और वही अपराधी... 
   
 

ramesh rajpurohit [] madurai - 2012-01-16 16:48:08

 
  दिग्विजय सिंह ने 2 दिन पहले बटाला हाउस मामले को उठाना चाहा लेकिन नहीं उठा पाए तो कामरान सिद्दीकी को तैयार कर दिया. दिग्विजय साहब चुनाव जीतने के लिए इतना गिरेंगे सोचा नहीं था. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in