पहला पन्ना >राजनीति >नेपाल Print | Share This  

अतंर्राष्ट्रीय अपहरण गिरोह का सरगना नेपाली राजनेता गिरफ्तार

अतंर्राष्ट्रीय अपहरण गिरोह का सरगना नेपाली राजनेता गिरफ्तार

काठमांडू. 17 जनवरी 2012

श्याम सुंदर गुप्ता


नेपाल के उद्योगपति का अपहरण कर उससे 5 करोड़ रुपये वसुलने के आरोप में नेपाल के एक पूर्व मंत्री श्याम सुंदर गुप्ता की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि गुप्ता ने इससे पहले किन-किन वारदातों को अंजाम दिया है.

नेपाल सद्भावना पार्टी के अध्यक्ष श्याम सुंदर गुप्ता को पकड़ने के बाद नेपाल पुलिस ने कुछ भारतीय अधिकारियों से भी इस संबंध में संपर्क साधा है. माना जा रहा है कि नेपाल का यह पूर्व मंत्री कोई अंतर्राष्ट्रीय अपहरण गिरोह चला रहा था.

गौरतलब है कि काठमांडू के उद्योगपति पवन संघाई का 21 दिसंबर 2011 को अपहरण कर लिया गया था. लगभग बीस दिनों तक अपहरणकर्ताओं के चंगुल में रहने के बाद उनके परिजनों से 5 करोड़ रुपया वसूला गया, जिसके बाद पवन संघाई की रिहाई हो पाई थी.

इस मामले में पुलिस लगातार इस अपहरण के पीछे की साजिश का पता लगाने में जुटी हुई थी. पुलिस ने अपहरण के मामले में दो लोगों को हेटौडा से गिरफ्तार किया था. इसके बाद उन्हीं आरोपियों के बयान के बाद काठमांडू पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सोमवार को गुप्ता को भैरहवा के बैंक रोड स्थित उसके निवास से धर दबोचा. घंटे भर के भीतर सिद्धार्थनगर, रुपेनदेही से गुप्ता की गिरफ्तारी की खबर राजधानी में फैल गयी. बाद में उसे काठमांडू लाया गया.

श्याम सुंदर गुप्ता की गिरफ्तारी को लेकर काठमांडू में अफवाहों का बाजार गर्म है. माना जा रहा है कि श्याम सुंदर गुप्ता से अगर कड़ाई से पूछताछ की जाये तो किसी बड़े अंतर्राष्ट्रीय अपहरण नेटवर्क का पर्दाफाश हो सकता है. माना जा रहा है कि अपहरणकर्ता गिरोह के सरगना गुप्ता के तार भारत और थाईलैंड से जुड़े हुये हैं.