पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >झारखंड Print | Share This  

मधु कोड़ा ने बेचा था कई टन सोना

मधु कोड़ा ने बेचा था कई टन सोना

रांची. 17 जनवरी 2012

मधु कोड़ा


झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा की कंपनी बालाजी बुलियन ने वित्तीय वर्ष 2006-07 के दौरान सिर्फ़ चार माह में ही 10.78 टन सोना बेच कर 984.85 करोड़ कमाने का हिसाब-किताब तैयार किया था. इनमें 739.21 करोड़ रुपये नकद और 245.63 करोड़ रुपये चेक के माध्यम से प्राप्त दिखाया था.

मधु कोड़ा ने अपनी काली कमाई को सही बताने के लिये कागजों पर ही 290 किलोग्राम सोना बेच डाला. जाहिर है, न तो इस सोने का कोई खरीदार था और ना ही असल में कोई सोना बेचा गया था. हजारों करोड़ के घोटाले में जेल की हवा खा रहे भ्रष्टाचार के आरोपी इस मुख्यमंत्री की कंपनी के कागजातों से यह सब कुछ सामने आया है.

प्रभात खबर के अनुसार बालाजी बुलियन के खातों की जांच के दौरान पाया गया कि कंपनी ने 13 जनवरी 2007 को विभिन्न लोगों को 110 किलो सोने की बिक्री दिखायी थी. कंपनी के इसी खाते में इस सोने की खरीद 16 जनवरी 2007 को दिखायी गयी थी.

इसी तरह 15 जनवरी 2007 को विभिन्न व्यक्तियों के नाम दिखायी गयी 40 किलो सोने की खरीद 16 जनवरी 2007 को की गयी है. 16 जनवरी 2007 को बेचा गया 100 किलो सोना कंपनी के लेखा-जोखा के हिसाब से 17 जनवरी को खरीदा गया था. 18 जनवरी 2007 को बेचा गया 40 किलो सोना 19 जनवरी को खरीदा गया था. यानी कंपनी ने अपने हिसाब-किताब में 290 किलोग्राम सोना खरीदने के पहले ही बेचने का हिसाब लिख डाला था.

बालाजी बुलियन से 6.26 करोड़ का सोना खरीदनेवाली मेसर्स एमबीबी एक्सपोर्ट नामक कंपनी का दफ्तर एक ऐसे कमरे में चलता है, जिसमें सिर्फ़ एक कुरसी और टेबल रखा जा सकता है. 5.47 करोड़ रुपये का सोना खरीदनेवाली मेसर्स नाकोडा कॉमर्शियल कंपनी के जयंती लाल जैन ने जांच एजेंसियों को बताया कि उनकी कंपनी शर्ट के कपड़ों की खरीद बिक्री करती है.

17 लाख रुपये का सोना खरीदनेवाली मेसर्स ए मल्टी ट्रेड नामक कंपनी एक ऐसी बिल्डिंग में है, जो अभी निर्माणाधीन है. 4.91 करोड़ रुपये का सोना खरीदनेवाली मेसर्स शाह एंड कंपनी के अशोक जैन ने जांच एजेंसियों को बताया कि उनकी कंपनी ने पहले ही व्यापार बंद कर दिया है.

बालाजी बुलियन से सोना खरीदनेवाली सी ट्रेडिंग कंपनी, एलोरा सेल्स, वीवा ट्रेडिंग , मिहिर एजेंसी जैसी कंपनियों का पता ही फ़रजी पाया गया. इसलिए बालाजी बुलियन द्वारा सोना बेच कर 984.85 करोड़ रुपये कमाने के दावे को जांच एजेंसियों ने गलत और अपनी नाजायज कमाई को जायज करार देने की कोशिश मानी है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in