पहला पन्ना >राजनीति >उत्तराखंड Print | Share This  

जूते से डरकर नहीं भागेगा राहुल गांधी

जूते से डरकर नहीं भागेगा राहुल गांधी

देहरादून. 23 जनवरी 2012

राहुल गांधी


कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने उपर जूता फेंके जाने की घटना को हताशा का परिणाम बताते हुये कहा है कि वे जूतों से डर कर भागने वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा कि अगर किसी को गुस्सा है तो भले जूते फेंक ले.

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश की चुनावी सभा में जब कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी विकासनगर में एक सभा को संबोधित कर रहे थे तो इंडिया शाइनिंग पर बोलते समय एक दर्शक ने कलमाड़ी का नाम लेते हुये उन पर जूता फेंका. हालांकि जूता मंच तक नहीं पहुंच सका. भीड़ ने उस युवक को पकड़ लिया और उसकी पीटाई भी की.

इस घटना के बाद राहुल गांधी ने कहा कि लोग सोचते हैं कि जूता-चप्पल मार देने से राहुल गांधी भाग जाएगा लेकिन राहुल भागने वाला नहीं है. भैया किसी को गुस्सा गुस्सा उतारना है तो फेंक दे जूते. उन्होंने इस घटना के लिये भाजपा को जिम्मेवार बताया.

राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा ने उत्तराखंड में पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल के समय हुई अनियमितताओं को ढकने के लिए चुनाव से पहले मुख्यमंत्री को बदल दिया क्योंकि भाजपा को अपने चोरों की करतूतों को ढकने के लिए मुख्यमंत्री बी सी खंडूड़ी की वाकई जरूरत है.भाजपा भ्रष्टाचार के बारे में बातचीत करती है लेकिन कर्नाटक, उत्तराखंड, गुजरात में भ्रष्टाचार से आंखें मूंद लेती है, जहां वह सत्ता में है.