पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > राष्ट्र > आतंकवाद Print | Send to Friend 

मालेगांव विस्फोट मामले में दो अन्य सैन्य अधिकारियों पर शक

मालेगांव विस्फोट: दो अन्य सैन्य अधिकारी शक के घेरे में

 

मुंबई. 07 नवंबर 2008

 

मालेगांव धमाके के सिलसिले में लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित की गिरफ्तारी के बाद दो अन्य सैन्य अधिकारियों से भी पूछताछ हो सकती है. इनमें से एक कर्नल देवलाली अभी नासिक में तैनात हैं. मुंबई के आतंकवाद विरोधी बल (एसटीएफ) ने उनसे पूछताछ के लिए रक्षा मंत्रालय से इजाजत मांगी है.

 

इस मुद्दे पर सेना का कहना है कि अभी पुलिस या आतंकवाद निरोधी दस्ते ने उससे संपर्क नहीं किया है, लेकिन सैन्य हलकों में इस बात को लेकर चिंता जरूर है कि उसके कुछ और अफसर शक के घेरे में हैं. ऐसा बताया जा रहा है कि कुछ मौजूदा कर्नल और एक रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल भी धमाके की साजिश बनाने में साझीदार हो सकते हैं. सूत्रों के अनुसार खबर आ रही है कि मध्य प्रदेश में तैनात एक लेफ्टिनेंट कर्नल से भी पूछताछ चल रही है. लेकिन इस बारे में आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

 

पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियां मालेगांव धमाके के सिलसिले में गिरफ्तार दो लोगों के जम्मू-कश्मीर से संबंधित होने की बात पर भी छानबीन कर रही हैं. माना जा है कि मालेगांव में विस्फोट के लिए आरडीएक्स का इस्तेमाल हुआ और यह आरडीएक्स आतंकवाद प्रभावित क्षेत्र से लाया गया था. गिरफ्तार लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित जम्मू-कश्मीर में 41 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात रहे थे. जांच अधिकारियों का शक है कि पुरोहित ने तब के संपर्को का इस्तेमाल धमाके की साजिश को अंजाम देने के लिए किया हो.

 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   

 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in