पहला पन्ना >राजनीति >बिहार Print | Share This  

मंत्री जी काट देंगे डाक्टरों के हाथ

मंत्री जी काट देंगे डाक्टरों के हाथ

पटना. 29 जनवरी 2012

अश्विनी कुमार चौबे


बिहार के स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा है कि अगर राज्य के जूनियर डाक्टर हड़ताल पर गये तो उनका हाथ काट लिया जाएगा. राज्य में जन स्वास्थ्य चेतना यात्रा की शुरुआत करते हुये अश्विनी कुमार चौबे ने राज्य में जूनियर डाक्टरों द्वारा हड़ताल की धमकी पर नाराजगी जाहिर करते हुये जब यह फरमान सुनाया तो उपस्थित डाक्टर भी भौंचक रह गये.

गौरतलब है कि अपनी तनख्वाह बढ़ाने के मुद्दे पर राज्य के जूनियर डाक्टरों ने 31 जनवरी से हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है. राज्य के जूनियर डाक्टरों ने पिछले साल भी लगभग इसी समय हड़ताल की थी, जिसके बाद राज्य की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से चरमरा गई थीं. इसके बाद से राज्य के जूनियर डाक्टर लगातार हड़ताल की बात करते रहे हैं और सरकार उनकी मांगों को लगातार टालती रही है.

शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बिफरते हुये कहा कि जनता के कल्याकण की जो व्य वस्थाी है, यदि डाक्टरों ने उस पर चोट करने का प्रयास किया गया तो हम हाथ भी काटना जानते हैं. हालांकि जब मंत्री जी की जुबान से यह निकला तो उन्हें इस बात का अहसास हो गया था कि वे कुछ गलत बोल गये हैं. ऐसे में उन्होंने यह घोषणा भी की कि डाक्टरों का वेतन जल्दी ही डेढ़ गुणा किया जाएगा.

बिहार इंडियन मेडिकल एसोसिएशन मंत्री के बयान को गैर-जिम्मेदराना बताते हुए चेतावनी दी है कि ऐसे बयान से हालात और बिगड़ेंगे. उधर जूनियर डाक्टर्स एसोसिएशन के डाक्टर धीरज कुमार ने कहा कि उनका तालिबानी बयान मानवता से परे है. ऐसे बयान देने वालों को मंत्रिमंडल में इतने बड़े विभाग का जिम्मा कैसे सौंपा गया है. पढ़े-लिखे व्यक्ति को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए.