पहला पन्ना >राजनीति >राजस्थान Print | Share This  

भंवरी के हत्यारों से सामूहिक पूछताछ

भंवरी के हत्यारों से सामूहिक पूछताछ

जोधपुर. 30 जनवरी 2012

भंवरी देवी


लोक गायिका और नर्स भंवरी देवी हत्या कांड में गिरफ्तार 6 लोगों से सीबीआई ने रविवार को पूछताछ की. आमने-सामने बैठा कर भंवरी देवी के पति अमरचंद, पुरखराज बिश्नोई, दिनेश बिश्नोई, लाल, शहाबुद्दीन और बलदेव जाट उर्फ बलिया से सीबीआई ने विस्तार से पूछताछ की. माना जा रहा है कि सीबीआई का पूरा ध्यान इस बात पर है कि आखिर भंवरी देवी को कितने की सुपारी दी गई थी और वह रकम अभी कहां है.

गौरतलब है कि भंवरी देवी एक सितंबर से ही लापता थी. भंवरी देवी ने अपनी कार जल संसाधन विभाग के एक ठेकेदार सोहनलाल विश्नोई को बेची थी. एक सितंबर को वह विश्नोई से कार की रकम लेने के लिए घर से निकली थी, लेकिन उसके बाद वह नहीं लौटी. कहा जाता है कि भंवरी देवी कथित अश्लील सीडी के जरिए लोगों को ब्लैकमेल कर रही थी. ऐसे कई टेप सामने आए हैं, जिससे ब्लैकमेलिंग की बात साबित होती है. भंवरी देवी की हत्या के बाद उसकी लाश जालोड में जला दी गई थी, और दूसरे सबूत राजीव गांधी नहर में बहा दिये गये थे, जिसे बाद में सीबीआई ने बरामद किया था.

इस मामले में जोधपुर जिले की एक अदालत ने भंवरी देवी के पति के इस्तगासे के आधार पर जलदाय मंत्री महिपाल मदेरणा के खिलाफ भी मामला दर्ज करने के निर्देश पुलिस को दिए थे. बाद में उच्च न्यायालय ने भी सरकार को फटकार लगाई. इसके बाद जब विरोध बढ़ा तो मदेरणा को सरकार ने मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया. बाद में उनकी गिरफ्तारी हुई. इसी तरह भंवरी के पति अमरचंद को गिरफ्तार किया गया क्योंकि सीबीआई को कई अहम सबूत मिले, जिससे पता चलता है कि भंवरी की हत्या की जानकारी थी. इसके बाद विधायक मलखान सिंह विश्नोई, सहीराम बिश्नोई, कैलाश जाखड़, बिशनाराम विश्नोई, ओमप्रकाश जैसे लोग एक-एक कर सीबीआई के फंदे में फंसते चले गये. फिलहाल इन सभी के खिलाफ भंवरी देवी की हत्या के मामले में मुकदमा दायर किया गया है.

भंवरी देवी का पति अमरचंद पत्नी की हत्या के मामले में जेल में है और तीनों बच्चे भंवरी देवी की 70 साल की मां पूनी देवी पर निर्भर हैं. इस बीच राजस्थान सरकार ने भंवरी देवी के आश्रितों को सहायता देने के उद्देश्य से उनके बेटे को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है. साथ ही बेटियों को 4-4 लाख रुपये दिये जाएंगे. कुछ शर्तों के साथ तीनों बच्चों की पढ़ाई और उनके खाने-पीने का समस्त खर्चा भी सरकार ने उठाने की बात कही है.