पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

अन्ना की हत्या की साजिश?

अन्ना की हत्या की साजिश?

नई दिल्ली. 30 जनवरी 2012

अन्ना हजारे


क्या अन्ना हजारे की हत्या की साजिश रची गई थी? क्या अन्ना हजारे को जानबुझ कर किसी राजनीतिक साजिश के तहत बीमार किया गया था, जिससे कि वे केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन न चला सकें ? पिछले एक महीने से बीमार चल रहे अन्ना हजारे की गुड़गांव स्थित मेदांता अस्पताल में हुई जांच के बाद कहा जा रहा है कि इससे पहले पुणे के जिस संचेती अस्पताल में अन्ना का इलाज किया गया, वहां उन्हें अनावश्यक रुप से गैरजरुरी दवाइयां दी गईं. जिसके बाद अन्ना की तबीयत लगातार खराब बनी रही. टीम अन्ना की कोर कमेटी के सदस्य अरविंद केजरीवाल ने भी आरोप लगाया है कि अन्ना हजारे पुणे के अस्पताल से और बीमार होकर लौटे थे.

गौरतलब है कि पिछले महीने अन्ना हजारे की तबीयत खराब हो गई थी और उन्हें पुणे के संचेती अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसके बाद अस्पताल के डाक्टर संचेती ने अगले एक महीने तक उनके कहीं भी आने-जाने और अनशन उपवास पर पाबंदी लगा दी थी. अन्ना के सारे आंदोलन धरे के धरे रह गये. यहां तक कि तीन दिन का उपवास अन्ना हजारे को 2 दिन से पहले ही खत्न करना पड़ा. अब इस महीने उनका इलाज करने वाले डाक्टर संचेती को केंद्र सरकार ने पद्म विभूषण से सम्मानित किया है.

एक दिन पहले ही बाबा रामदेव ने यह कह कर सनसनी फैला दी थी कि अन्ना हजारे को जानबुझ कर बीमार किया गया था. रामदेव का कहना था कि अन्ना हजारे को दवा देकर बीमार किया गया था और जिस डाक्टर ने ऐसा किया, उसे केंद्र सरकार द्वारा पद्म भूषण सम्मान दिया गया.

मेदांता के चिकित्सकों ने रविवार को अन्ना हजारे की जांच के बाद माना कि गैरजरुरी दवाओं के कारण उनके शरीर में कई जगह सूजन आ गया है और शरीर के कई हिस्सों में पानी भर गया है. उनकी सांस भी लगातार फूल जाती है. इसके अलावा उनका इलाज जिस तरीके से किया गया है, उसमें भी ऐसी दवाइयां दी गई हैं, जिनकी जरुरत नहीं थी. ऐसी ही दवाइयों के कारण अन्ना हजारे की तबीयत और खराब हुई.

इधर संचेती अस्पताल के डाक्टर संचेती ने कहा कि उन्हें पद्मभूषण दिये जाने और अन्ना का इलाज किये जाने को एक साथ जोड़ना गलत है. उन्हें चार महीने पहले ही पद्मभूषण के लिये नामांकित किया गया था. उन्होंने कहा कि अस्पताल में अन्ना हजारे का पूरी तरह से ठीक इलाज किया गया था और उनके इलाज को लेकर लग रहे आरोप बहुत दुखी करने वाले हैं.