पहला पन्ना >राजनीति >अमरीका Print | Share This  

ईरान पर हमला हुआ तो वह भी मचाएगा तबाही

ईरान पर हमला हुआ तो वह भी मचाएगा तबाही

तेहरान. 6 फरवरी 2012

हुसैन सलामी


पिछले कई सालों से दुनिया के दारोगा अमरीका की धौंस झेल रहे ईरान ने कहा है कि अगर उसके उपर हमला हुआ तो वह उसी स्थान पर हमला करेगा. ईरान ने कहा है कि उस पर अनावश्यक रुप से लगातार दबाव बनाया जा रहा है और वह इसे अब और बर्दाश्त नहीं कर सकता. उसने कहा कि पश्चिमी देशों ने जिस तरह की हालत पैदा कर दी है, उसके बाद ईरान भी इस तरह के किसी भी हमले का जवाब देने के लिये अपने को तैयार कर चुका है.

ईरान की इस्लामिक रेवॉल्यूशन गार्ड्स कोर के उपाध्यक्ष हुसैन सलामी का कहना है कि ईरान इन दिनों पश्चिमी देशों के हमलों की आशंका में जी रहा है लेकिन वह डरा हुआ नहीं है. सलामी के अनुसार ईरान ने ठान लिया है कि अगर उनके देश पर हमला होगा तो वे चुप नहीं बैठेंगे. इसके लिये ईरान ने जरुरी तैयारी कर ली है. ईरान पर जो भी देश हमला करेगा, उस पर तुरंत जवाबी कार्रवाई की जाएगी.

इस बीच ईरान के विदेश मंत्री अली-अकबर सालेही ने भी दावा किया है कि पश्चिमी देशों के हमलों पर जवाबी कार्रवाई करने के लिये उनका राष्ट्र पूरी तरह से तैयार है. उन्होंने कहा कि ईरान अपनी ताकत जानता है और हरेक परिस्थिति के लिये अब तैयार है.

गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से ईरान पर परमाणु हथियार बनाने का आरोप लगाते हुये अमरीका उसे निशाना बनाता रहा है. इससे पहले अमरीका ने इराक पर भी ऐसे ही आरोप लगाये थे. लेकिन इराक में सद्दाम हुसैन की हत्या के बाद भी परमाणु हथियार नहीं मिले. तेल की राजनीति में अपने साम्राज्य का विस्तार करते हुये उसने तीसरी दुनिया के देशों को डराने की नियत से लिबिया में कर्नल गद्दाफी को मार गिराया. विश्व राजनीति पर नजर रखने वाले मानते हैं कि तेल पर अपना अधिकार जमाने के लिये परमाणु हथियार के नाम पर अब अमरीका किसी भी दिन ईरान पर हमला कर सकता है.