पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

वाड्रा के कारण सेन का तबादला नहीं

वाड्रा के कारण सेन का तबादला नहीं

नई दिल्ली. 7 फरवरी 2012

राबर्ट वाड्रा


चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश में पवन कुमार सेन के तबादले को राबर्ट वाड्रा से जोड़े जाने का खंडन करते हुये कहा है कि इन दोनों घटनाओं का एक दूसरे से कोई लेना-देना नहीं है. चुनाव आयोग ने कहा है कि सीएसएम नगर जिला में चुनाव ड्यूटी पर काम कर रहे आईएएस अधिकारी पवन कुमार सेन की गोवा राज्य में जिला निर्वाचन अधिकारी के रूप नियुक्ति का फैसला पहले ही लिया जा चुका था.

चुनाव आयोग ने कहा कि पवन कुमार सेन ने राबर्ट वाड्रा के खिलाफ कानून के अनुसार और भारतीय निर्वाचन आयोग के निर्देशों के पूरी तरह अनुरूप कार्रवाई की थी. सेन को दक्षिण गोवा में जिला निर्वाचन अधिकारी के रूप में नियुक्त करने का निर्णय एक सप्ताह से प्रक्रिया में चल रहा था.

चुनाव आयोग के अनुसार पिछले सप्ताह आयोग के गोवा दौरे के दौरान कुछ लोगों ने मांग की थी कि दक्षिण गोवा में राज्य सेवा के वर्तमान डीईओ के स्थान पर प्रशासनिक सेवा के किसी अधिकारी को नियुक्त किया जाये. गोवा राज्य काडर के आईएएस अधिकारी पवन कुमार सेन को इस पद के लिए सर्वाधिक उपयुक्त पाया गया और आयोग ने सीएसएम नगर की घटना से बहुत पहले 6 फरवरी को उनकी नियुक्ति के आदेश जारी कर दिये थे.

हालांकि इस विवाद के बाद चुनाव आयोग ने पवन कुमार सेन को दक्षिण गोवा में डीईओ के रूप में ड्यूटी ज्वाइन करने को संबद्ध निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान पूरे हो जाने तक स्थगित करने का फैसला किया है. उनकी जगह एक दूसरे आईएएस अधिकारी दौलत ए. हवलदार को दक्षिण गोवा में जिला कलेक्टर के रूप में नियुक्त करने का फैसला किया गया है.