पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >कर्नाटक Print | Share This  

ऐसे मंत्रियों को जेल भेजो-अन्ना हजारे

ऐसे मंत्रियों को जेल भेजो-अन्ना हजारे

नई दिल्ली. 9 फरवरी 2012

ब्लू फिल्म


कर्नाटक विधानसभा में ब्लू फिल्म देखने वाले मंत्रियों को समाजसेवी अन्ना हजारे ने जेल भेजने की बात कही है. अन्ना हजारे ने कहा है कि ऐसे लोगों के लिये हरेक पार्टी में होड़ लगी हुई है और देश का भविष्य खतरे में है.

गौरतलब है कि मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा में सदन की कार्रवाई के दौरान राज्य के सहकारिता मंत्री लक्ष्मण सवाडी और महिला व बाल कल्याण मंत्री सीसी पाटिल को पोर्न फिल्म देखते हुये पकड़ा गया था. दोनों मंत्री उस दौरान पोर्न फिल्म देख रहे थे, जब विधानसभा में बीजापुर जिले में पाकिस्तानी झंडा फहराने को लेकर हंगामेदार बहस चल रही थी. उन्हें यह फिल्म एक तीसरे मंत्री कृष्णा पालेमर ने अपने मोबाइल से फारवर्ड की थी. बाद में इन तीनों मंत्रियों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.

अन्ना हजारे ने कहा कि संविधान के तहत विधानसभा और संसद जनतंत्र के पवित्र मंदिर बनायें गये हैं. ऐसे पवित्र मंदिर में बैठकर यदि ये लोग ऐसी अश्लील फिल्म देखते हैं तो यह संविधान का अपमान है. इस मंदिर में बैठकर तो हमारे नेताओं को जनता के विकास के लिए कानून बनाने चाहिए. समाज, राष्ट्र और जनता के सर्वांगिण विकास की बातें यहां होनी चाहिए. ऐसे पवित्र मंदिर में बैठ कर अश्लील फिल्म देखना- क्या यही जनता का विकास है.

नेताओं को संबोधित करते हुये अन्ना हजारे ने अपने बयान में कहा है कि जनता ने अपना प्रतिनिधि बनाकर आपको भेजा तो आप तो समाज के प्रमुख हो गये. आप तो समाज के लीडर है. समाज के लीडर की जिम्मेदारी बहुत बड़ी होती है. आपको समाज देख रहा है. आप क्या खाते हैं, आप क्या पीते हैं, कैसे चलते हैं, कैसे रहते हैं- ये बातें समाज देख रहा है. आप ऐसी अश्लील फिल्म देख रहे हैं तो आप जनता के लिए क्या आदर्श निर्माण करेंगे?

अन्ना हजारे ने मांग की है कि ऐसे लोगों को विधानसभा से तो तुरंत बर्खास्त तो करना ही चाहिए, साथ साथ उन्होंने विधानसभा की अवमानना की है. उन्होंने संविधान का अपमान किया है. इसके लिए उन्हें जेल भेजना चाहिए.

अन्ना हजारे ने राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधते हुये कहा है कि आज ऐसे लोगों को टिकट देने के लिए सभी पार्टियों में होड़ लगी है. हर पार्टी में इस किस्म के लोग भरे पडे़ हैं. ऐसे लोग हमारी संसद और विधानसभा को गंदा कर रहे हैं. ऐसे लोगों के हाथ में देश का भविष्य खतरे में है. जनता का भविष्य खतरे में है. अब इस देश में भारी व्यवस्था परिवर्तन का समय आ गया है. ऐसे दुषित लोगों से जनतंत्र और संसद को बचाने का समय आ गया है. इसके लिए सारे देश को सामने आना पड़ेगा.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

lalitnarayanrai rai [] Gwalior - 2012-02-09 05:39:38

 
  It is a very shameful act. 
   
 

Niyazi [] Moradabad - 2012-02-09 05:35:47

 
  ऐसे लोगों को फाँसी देनी चाहिए. 
   
 

s m ojha [smojha11@gmail.com] gorakhpur - 2012-02-09 05:29:26

 
  अन्ना साहब पोर्न फिल्म देखने के लिए विधानसभा से बेहतर जगह कहीं नहीं है. इतने चरित्रवान एक साथ किसी सिनेमा हॉल में कहां मिलेंगे. विधायक निवास में सी सी कैमरा लगवा कर देखें हमाम में सभी... धन्यवाद सीसी कैमरा (ये भी अन्नावादी हो गया) 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in