पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >जैव Print | Share This  

सिर से पैर तक घने बाल वाली बहनों पर फिल्म

सिर से पैर तक घने बाल वाली बहनों पर फिल्म

सांगली. 10 फरवरी 2012

वेयरवुल्फ सिंड्रोम


सांगली की सविता, मोनिशा और सावित्री को कोई दिन में भी देख ले तो डर जाए. तीनों बहने प्रकृति की एक ऐसी बीमारी की शिकार हैं, जो अरबों में किसी एक को होता है. इन तीनों बहनों के पूरे शरीर पर घने बाल हैं. चेहरे पर भी बाल ऐसे उगे हुये हैं कि इन तीनों बहनों को देख कर बच्चे डर जाते हैं. अब फिल्मकार स्नेह गुप्ता ने इन बहनों को लेकर फिल्म बनाना शुरु किया है और उन्हें उम्मीद है कि इस फिल्म से होने वाली आमदनी से इन तीनों बहनों का लेजर तकनीक से इलाज संभव हो सकेगा.

पुणे के पास सांगली में तीनों बहनें वेयरवुल्फ सिंड्रोम नामक बीमारी से ग्रस्त हैं. वेयरवुल्फ सिंड्रोम में शरीर के जिन हिस्सों में बाल उगाने वाले जींस को निष्क्रिय होना चाहिए, वहां वह सक्रिय रह जाते हैं, जिस कारण वहां बाल ऊगते हैं. 23 वर्षीय सविता, 18 वर्षीय मोनिशा और 16 वर्षीय सावित्री के शरीर में सिर से पैर तक घने बाल ऊगते हैं. तीनों बहनें एक क्रीम लगा कर बाल उगने से रोकती हैं लेकिन क्रीम का असर 15 दिनों तक ही रहता है. अब ये तीनों महंगी लेजऱ सर्जरी से बालों से निजात पाने के लिए पैसे जमा कर रही हैं.

उन्हें यह खामी अपने पिता से मिली है, जिसके साथ उनकी मां अनिता शम्भाजी राऊत को महज 12 साल की उम्र में धमका कर ब्याह दिया गया था. बिना मां-बाप की लड़की अनिता को उसके चाचा-चाची ने पाला और 12 साल की उम्र में यह धमकी देते हुए ब्याह दिया कि अगर शादी से इंकार किया तो उसे मार डाला जाएगा. शादी के मंडप में पहली बार अपने दूल्हे को देखकर अनिता डर गईं. अनिता को समझ नहीं आया कि वह क्या करें.

अनिता की 6 बेटियां हैं, जिनमें से तीन इस खामी के साथ जन्मी हैं. बचपन से लोगों के ताने सुनकर बड़ी हुई इन लड़कियों को उम्मीद है कि उनकी शादी कभी हो सकेगी. हालांकि फिल्मकार स्नेह गुप्ता इन तीनों बहनों को बालों से निजात पाकर शादी करने के उनका सपना पूरा करने के लिए उन पर फिल्म बना रहे हैं.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Teena [] Delhi - 2012-02-10 11:35:46

 
  Sneh Gupta is a great person. These days there are not many who think about others, but Mr. Gupta is different from others. Hope he gets success. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in