पहला पन्ना >राजनीति >कर्नाटक Print | Share This  

पोर्न देख रहे थे कर नहीं रहे थे

पोर्न देख रहे थे कर नहीं रहे थे

पणजी. 10 फरवरी 2012

पोर्न फिल्म


कर्नाटक विधानसभा में मंत्रियों द्वारा ब्लू फिल्म देखने का बचाव करते हुये गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर परिक्कर ने कहा है कि हमारे मंत्री विधानसभा में पोर्न वीडियो देख रहे थे, कर थोड़े ही रहे थे. उन्होंने कहा कि इस मामले को ज्यादा ही तुल दिया जा रहा है.

गौरतलब है कि मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा में सदन की कार्रवाई के दौरान राज्य के सहकारिता मंत्री लक्ष्मण सवाडी और महिला व बाल कल्याण मंत्री सीसी पाटिल को पोर्न फिल्म देखते हुये पकड़ा गया था. दोनों मंत्री उस दौरान पोर्न फिल्म देख रहे थे, जब विधानसभा में बीजापुर जिले में पाकिस्तानी झंडा फहराने को लेकर हंगामेदार बहस चल रही थी. उन्हें यह फिल्म एक तीसरे मंत्री कृष्णा पालेमर ने अपने मोबाइल से फारवर्ड की थी. बाद में जब यह मामला एक टीवी चैनल के कैमरे में कैद हुआ और राजनीतिक गलियारे में हंगामा मचा तो इन तीनों मंत्रियों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.

अब इस मामले में भाजपा के वरिष्ठ नेता और गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर परिक्कर पोर्न देखने वाले मंत्रियों के बचाव में सामने आ गये हैं. उन्होंने कहा है कि उनके मंत्री पोर्न देख रहे थे, कुछ कर नहीं रहे थे. परिक्कर का कहना था कि इस मुद्दे को बेवजह तुल दिया जा रहा है.

नैतिक मूल्यों की दुहाई देने वाली भाजपा के इस नेता का कहना था कि ऐसे मामलों से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला. यह बहुत छोटा मामला है. परिक्कर का कहना था कि कर्नाटक में चुनाव नहीं होने वाले हैं, ऐसे में पार्टी को कोई नुकसान नहीं होगा.

भाजपा नेता परिक्कर ने विधानसभा की कार्रवाई के दौरान ब्लू फिल्म देखने वाले मंत्रियों का बचाव करते हुये कहा कि यह तो कुछ नहीं हैं. देश में इससे भी बड़े-बड़े कांड करने वाले हो चुके हैं. कांग्रेस नेता तो महिला को काटकर तंदूर में जला चुके हैं. राजस्थान में भंवरी देवी मामले में पूरे देश ने कांग्रेस के मंत्री-विधायकों की भूमिका को देखा है. कम से कम भाजपा के नेताओं ने तो ऐसा नहीं किया है. उन्होंने इस मामले का गोवा विधानसभा चुनाव में कोई असर पड़ने से इंकार करते हुये कहा कि कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिये वह मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिये तरह-तरह की हरकतें कर रही है.