पहला पन्ना >राजनीति >बात Print | Share This  

महीने भर में 200 हाथियों का शिकार

महीने भर में 200 हाथियों का शिकार

येवूंदे, कैमरुन. 18 फरवरी 2012

हाथियों का शिकार


द इंटरनेशनल फंड फॉर एनिमल वेलफेयर का दावा है कि पिछले एक महीने के दौरान कैमरुन में शिकारियों ने कम से कम 200 हाथियों को मार डाला है. इन हाथियों को उनके दांत के लिये मारा गया है. पश्चिमी मध्य अफ्रीका के इस देश में बड़ी संख्या में हाथी हैं और नाइजीरिया से लगे हुये इस देश में हाथियों के शिकार की घटनाएं लगातार होती रहती हैं लेकिन पिछले एक महीने में 200 हाथियों के मारे जाने की खबर से सनसनी फैली हुई है. यहां हजारों की संख्या में हाथी हैं.

कैमरुन से आने वाली खबरों में कहा गया है कि पिछले एक महीने में सूडानी शिकारियों ने चाड सीमा से सटे उत्तरी कैमरून स्थित बोउबा नडजिदा राष्ट्रीय उद्यान में कम से कम 200 हाथियों का शिकार किया. राष्ट्रीय उद्यान के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें अब तक सौ से अधिक मृत हाथियों के शरीर मिले हैं, जिनके दांत शिकारियों ने निकाल लिये हैं.
द इंटरनेशनल फंड फॉर एनिमल वेलफेयर यानी आईएफएडब्ल्यू की सेलिन सिस्लर बेनवेनु के कहना है कि कैमरुन में हाथियों का शिकार नया नहीं है लेकिन जितनी आक्रमकता के साथ पिछले एक महीने में हाथियों को मारा गया है, वह चौंकाने वाला है.

उन्होंने कहा कि सूडान के इलाके से शिकारी हमेशा बोउबा नडजिदा राष्ट्रीय उद्यान में आते हैं और कुछ जानवरों का शिकार करके लौट जाते हैं लेकिन ताज़ा घटनाक्रम ने हमारी नींद उड़ा दी है. बेनवेनु के अनुसार शिकार के तार एशिया और यूरोप तक जुड़े हुये हैं, जहां के बाजार में हाथियों के दांत की खूब मांग है.

हाथियों के शिकार में सूडान और पड़ोसी देशों के चरमपंथी गुट भी लगे हुये हैं, जो इनका शिकार करके इनके दांत को अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बेचते हैं और अपने लिये हथियार खरीदते हैं.