पहला पन्ना >राजनीति >उ.प्र. Print | Share This  

नेताओं को हनुमान चालीसा दे दे चुनाव आयोग

नेताओं को हनुमान चालीसा दे दे चुनाव आयोग

लखनऊ. 19 फरवरी 2012

बेनी प्रसाद वर्मा


चुनाव आयोग सभी नेताओं को हनुमान चालीसा दे दे, सभी नेता अपनी सभाओं में उसी का पाठ करते रहेंगे. चुनाव आयोग को यह सुझाव दिया है कांग्रेसी नेता और मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने. अपनी फिसलती जुबान के लिये चुनाव आयोग की नोटिस मिलने के बाद भी बेनी प्रसाद वर्मा गलत बयानबाजियों से बाज नहीं आ रहे हैं.

गौरतलब है कि मुस्लिम कोटे के बयान पर सलमान खुर्शीद को पहले ही चुनाव आयोग चेता चुका है और माफीनामे के बाद ही सलमान खुर्शीद का मामला निपटा था. उसके बाद मुस्लिम आरक्षण पर बेनी प्रसाद वर्मा कूद पड़े. बेनी प्रसाद वर्मा ने एक सभा में कहा कि मुसलमानों के पास न जमीन है, न रोजगार. वह दिनभर मेहनत करता है तब शाम को खाना खाता है. मुसलमानों को और सुविधाएं दी जानी चाहिए. मुस्लिमों के आरक्षण का कोटा बढ़कर रहेगा. आयोग नोटिस देना चाहता है तो स्वागत है.

इस मामले में बेनी प्रसाद वर्मा को प्रथम दृष्टया आदर्श चुनाव आचार संहिता के अनुच्छेद 1-3, अनुच्छेद सात और इसी अनुच्छेद के उपबंध 6 के उल्लंघन का दोषी पाया गया है. इस मामले में उन्हें नोटिस जारी किया गया तो वे चुनाव आयोग को लेकर अपना गुस्सा नहीं छुपा सके.

बेनी प्रसाद वर्मा ने चुनाव आयोग की नोटिस को लेकर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुये कहा कि मैं पिछले चार महीने से रोज तीन से चार रैलियां कर रहा हूं. कभी कुछ मुंह से निकल जाता है. याद भी नहीं रहता, क्या कहा है.

आरक्षण के मुद्दे पर अपनी बयानबाजी को लेकर उन्होंने सफाई देते-देते यह भी कह डाला कि चुनावी सभाओं में आरक्षण की बात नहीं होगी तो कहां होगी. अच्छा हो कि हम सबको हनुमान चालीसा दे दिया जाए. सभी सभाओं में उसी का पाठ करते रहेंगे.