पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

येदियुरप्पा को भाजपा ने धोखा दिया

येदियुरप्पा को भाजपा ने धोखा दिया

बेंगलुरु. 28 फरवरी 2012

येदियुरप्पा


कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने भाजपा नेतृत्व पर हमला बोलते हुये कहा है कि भाजपा नेताओं ने उन्हें धोखा दिया है. उन्होंने कहा कि पार्टी के नेताओं ने इस्तीफा दिलवाते समय कहा था कि 6 महीने बाद उन्हें फिर से मुख्यमंत्री बनाया जाएगा लेकिन अब पार्टी इससे मुकर रही है. येदियुरप्पा ने कहा कि अब वे कुर्सी मांगने के लिये दिल्ली नहीं जाएंगे.

गौरतलब है कि खदान घोटाले में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने वाले बी एस येदुयुरप्पा पर घोटाले के 5 मामले फिलहाल चल रहे हैं. उनके खिलाफ बाशा ने सरकारी जमीन को गैर अधिसूचित करने में कथित अनियमितता के सिलसिले में अब तक पांच निजी शिकायतें दाखिल की हैं. तत्कालीन लोकायुक्त एन. संतोष हेगड़े द्वारा येदियुरप्पा के खिलाफ अवैध खनन मामले में मुकदमा चलाने की सिफारिश किए जाने के बाद येदियुरप्पा ने 31 जुलाई को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. येदियुरप्पा को 15 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था. बाद में 8 नवंबर को येदियुरप्पा को जमानत मिली थी.

तत्कालीन लोकायुक्त संतोष हेगड़े ने आरोप लगाया था कि खनन के मामले में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा और राज्य के चार मंत्री दोषी हैं. जस्टिस हेगड़े ने एक रिपोर्ट में कहा था कि एक बड़े गिरोह ने मार्च 2009 के बाद से 14 महीनों के भीतर ही सरकार को 1,800 करोड़ रुपये का चूना लगाया है और इसमें मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा भी शामिल रहे हैं.

अब अपने जन्मदिन पर 70 साल के बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री के पद के लिये इच्छुक नहीं हूं. चूंकि केंद्रीय नेतृत्व ने छह महीने बाद मुझे मुख्यमंत्री बनाये जाने का वादा किया था, इसलिये मैं अपनी खोयी हुई कुर्सी को वापस पाने के लिये दिल्ली गया था.

येदि ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री की कुर्सी मांगने के लिये दिल्ली नहीं जाऊंगा.मुझे यह नहीं चाहिये. उन्होंने कहा कि मैं देश में ऐसा पहला मुख्यमंत्री हूं जिसने राज्य में अवैध खनन पर रोक लगाई और इसके बावजूद विपक्षी दल लगातार मुझे निशाना बना रहे हैं. उन्होंने कहा कि फिलहाल वे भारतीय जनता पार्टी नहीं छोड़ेंगे.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in