पहला पन्ना >राजनीति >झारखंड Print | Share This  

अधिक खनन, अधिक माओवाद-जयराम रमेश

अधिक खनन, अधिक माओवाद-जयराम रमेश

रांची. 1 मार्च 2012

जयराम रमेश


केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश ने झारखंड के माओवाद प्रभावित इलाकों में निजी कंपनियों को माइनिंग दिये जाने का विरोध करते हुये कहा है कि जितनी अधिक माइनिंग होगी, माओवाद उतना ही बढ़ेगा. पश्चिमी सिंहभूम जिले के सारंदा क्षेत्र में विकास योजनाओं की समीक्षा करते हुये उन्होंने यह बात कही.

जयराम रमेश ने कहा कि जंगल के इलाकों में अधिक खनन का अर्थ है और अधिक माओवाद. इस बात को लेकर मेरे विचार बिल्कुल साफ़ हैं कि क्षेत्र में सेल यानी स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया के अलावा और किसी को खनन के अधिकार नहीं मिलने चाहिए. यहां तक कि सेल के खनन पर भी नियंत्रण होना चाहिए.

केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने पर्यावरण विभाग के अपने कार्यकाल का उल्लेख करते हुये कहा कि बतौर पर्यावरण मंत्री मैंने केवल सार्वजनिक उपक्रम सेल को लौह अयस्क के खनन की अनुमति दी थी. मैंने आदेश में यह बात साफ़ तौर पर लिखा था कि किसी निजी फ़र्म को खनन की अनुमति नहीं मिलनी चाहिए.

जयराम रमेश ने कहा कि माओवादी अपनी राह पर चल रहे हैं और सरकार अपने तरीके से विकास में जुटी हुई है. माओवादी चाहें भी तो सरकार के विकास कार्यक्रमों को पटरी से नीचे नहीं उतार सकते.