पहला पन्ना >राजनीति >अमरीका Print | Share This  

भारत में अमरीकी सेना पर हंगामा

भारत में अमरीकी सेना पर हंगामा

वाशिंगटन. 2 मार्च 2012

अमरीकी सेना


अमरीका के एक अधिकारी ने चौंकाने वाला रहस्योद्घाटन करते हुये कहा है कि अमरीकी सेना का विशेष दस्ता भारत समेत एशिया के पांच देशों में तैनात है. इस सनसनीखेज रहस्योद्घाटन से अमरीका सहित भारत के राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मचा हुआ है. यह पहला अवसर है, जब भारत में अमरीकी सेना की तैनाती की बात सामने आई है.

पेंटागन के एक शीर्ष सैन्य अधिकारी रॉबर्ट विलार्ड ने इस बारे में राज उजागर करते हुये कहा है कि अमरीका के ये सैनिक समुद्री सुरक्षा के लिहाज से भारत, नेपाल, बांग्लादेश, श्रीलंका और मालदीव में तैनात किये गये हैं.

अमरीकन कांग्रेस की एक बैठक को संबोधित करते हुये रॉबर्ट विलार्ड ने कहा कि अमरीका पिछले कई सालों से भारत के साथ मिल कर आतंकवाद के मुद्दे पर मिलजुल कर काम रहा है. इसके अलावा भारत के अंदरुनी आतंकवाद और अतिवादी संगठनों को लेकर भी अमरीका भारत की मदद कर रहा है. दोनों ही देश आतंकवाद के मुद्दे पर एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं.

विलार्ड ने खास तौर पर लश्कर-ए-तैयबा का उदाहरण देते हुये कहा कि पाकिस्तान का यह आतंकी संगठन बेहद खतरनाक स्थितियां पैदा कर रहा है और इससे निपटना बहुत जरुरी है. इस मुद्दे पर भी भारत-अमरीका साथ-साथ काम कर रहे हैं.

अमरीकी कमांडर विलार्ड ने साफ तौर पर अमरीकी इरादे जाहिर करते हुये कहा कि अमरीकी रणनीति के लिहाज से दक्षिण एशिया हमारे लिये बेहद महत्वपूर्ण इलाका है. व्यापार हो या ऊर्जा, हमारे लिये इस इलाके की सुरक्षा जरुरी है.