पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

बढ़ गया रेल का भाड़ा

बढ़ गया रेल का भाड़ा

नई दिल्ली. 14 मार्च 2012

रेल


रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने रेल बजट 2012-13 में रेल यात्रियों को कुछ नई गाड़ियां जरुर दी हैं लेकिन किराये में बढोत्तरी ने रेलयात्रियों के बजट को पटरी से उतार दिया है. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने बड़ी चतुराई से रेल यात्रियों पर किराये में भारी वृद्धि का बोझा डाला है और दो पैसे प्रति किलोमीटर से लेकर 30 पैसे प्रति किलोमीटर तक की बढ़ोतरी की है. जिससे दिल्ली-लखनऊ के स्लीपर के किराए में 25 रुपए की बढ़ोतरी हुई. जिससे दिल्ली-पटना के स्लीपर के किराए में 50 रुपए की बढ़ोतरी हुई.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी कहा कि रेलवे को 2012-13 में यात्री किराए और माल भाडे से कुल 133552 करोड रुपए की आय होगी, जो चालू वित्त वर्ष के संशोधित अनुमान से 28625 करोड़ रुपए अधिक है. उन्होंने कहा कि रेलवे को पर्याप्त बजटीय सहायता नहीं मिली. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कुछ खास बीमारियों से ग्रस्त मरीजों को एसी-2, एसी चेयरकार और शयनयान के रेल किराए में 50 प्रतिशत रियायत देने की घोषणा की. अर्जुन पुरस्कार पाने वाले राजधानी और शताब्दी में रियायती सफर कर सकेंगे.
रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहाकि 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान हेरिटेज, विरासत रेल लाइनों को छोड़कर बाकी सभी मीटर गेज और नैरो गेज लाइनों को ब्राड गेज में तब्दील कर दिया जाएगा. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहाकि भारतीय रेल को नेपाल और बांग्लादेश से जोड़ा जाएगा.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि सभी गरीब रथ ट्रेनों में विकलांगों के लिए एक विशेष वातानुकूलित कोच होंगे. रेल मंत्री ने कहाकि अगले साल 2500 कोचों में बायो (हरित) शौचालय लगेंगे. 75 नयी एक्सप्रेस और सवारी गाडियां अगले वित्त वर्ष के दौरान चलाई जाएंगी. मुंबई में 75 नयी उपनगरीय ट्रेनें शुरू होगी.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहाकि रेलवे बोर्ड में दो नए सदस्य नियुक्त किए जाएंगे. उन्होंने 2012-13 में 21 नई ट्रेनें चलाने की घोषणा की. रेल मंत्री ने सिखों को तोहफा दिया. उन्होंने सिख तीर्थस्थलों अमृतसर, पटना साहिब और नांदेड को जोड़ने वाली विशेष गुरू परिक्रमा ट्रेन चलाने की घोषणा की.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने घोषणा की है कि हर साल दस खिलाडियों को रेल खेल रत्न पुरस्कार दिए जाएंगे. उन्होंने कहाकि 2012-13 के दौरान रेलवे में एक लाख नयी भर्तियां होंगी.रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने घोषणा की कि रेलवे बोर्ड का पुनर्गठन किया जाएगा.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि रेलवे को अगले दस साल में 14 लाख करोड रूपए की आवश्यकता है. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहाकि 2012-13 के लिए 60100 करोड़ रुपए का अब तक का सबसे बड़ा वार्षिक योजना व्यय है.

उन्होंने भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम के गठन का ऐलान किया. साथ ही रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहाकि जोकि रेलवे स्टेशनों की साफ सफाई, रखरखाव का जिम्मा संभालेगा. रेल मंत्री ने मालगाडी शेड के लिए रेलवे लाजिस्टिक कापरेरेशन के गठन का ऐलान किया. रेल मंत्री त्रिवेदी ने बताया कि 2012-13 में 4410 करोड रुपए क्षमता विकास पर खर्च होंगे.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि रेल सुरक्षा मेरी पहली प्राथमिकता है. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि धनराशि न होना एक बड़ी समस्या. रेल मंत्री ने कहाकि मैं सुरक्षा मानकों से संतुष्ट नहीं हूं. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि जान है तो जहान है.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि पांच साल में सभी खुले फाटकों पर क्रासिंग बनेंगे.रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने रेल रोड ग्रेड सेपरेशन कापरेरेशन ऑफ इंडिया के गठन का ऐलान किया. उन्होंने पृथक रेलवे सुरक्षा प्राधिकरण और रेलवे अनुसंधान एवं विकास परिषद के गठन का ऐलान किया. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि प्राधिकरण अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप काम करेगा.

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि 12वीं योजना में रेलवे का योजना व्यय 7.3 लाख करोड़ रुपए है. रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहाकि चीन की गतिविधियों को देखते हुए सीमावर्ती इलाकों में रेल नेटवर्क के विकास पर ध्यान देंगे. रेलवे की 487 परियोजनाएं लंबित हैं. जिन्हें उचित बजट राशि मिले बिना दोहरीकरण, विद्युतीकरण से जुडी इन परियोजनाओं को समय से पूरा करना संभव नहीं है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in