पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

भारत में स्वाइन फ्लू से 12 मरे

भारत में स्वाइन फ्लू से 12 मरे

नई दिल्ली. 23 मार्च 2012

स्वाइन फ्लू


भारत में स्वाइन फ्लू से मरने वालों का सिलसिला जारी है. पिछले 20 दिनों में ही कम से कम 12 लोग मारे गये हैं. इसके अलावा लगभग 130 से अधिक लोगों के अस्पताल में भर्ती होने की खबर है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि एच1एन1 वायरस से लड़ने की लगातार कोशिश हो रही है और उम्मीद जताई जा रही है कि इसके फैलने पर रोक लगाई जा सकेगी.

गौरतलब है कि भारत में एच1एन1 वायरस से संक्रमित पहले मामले पहली बार 2009 में सामने आए. उस वक्त 450 से ज्यादा लोगों की स्वाइन फ्लू से मौत हो गई थी जबकि भारत भर में स्वाइन फ्लू के लगभग 13,000 मामले सामने आए थे. एच1एन वायरस से दुनिया भर में अब तक 1200 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इस वायरस की पहला संक्रमण मैक्सिको में सामने आया था.

स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि स्वाइन फ्लू से होने वाली ज्यादातर मौतें महाराष्ट्र में हुई हैं लेकिन कुछ मामले राजस्थान, आंध्र-प्रदेश और कर्नाटक में भी सामने आए हैं. सरकार ने माना कि एच1एन1 वायरस से संक्रमित 130 से ज्यादा लोग अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञपति के मुताबिक इन नए मामलों के सामने आने का कारण फिलहाल पता नहीं लग पाया है लेकिन सरकार ने स्थिति को नियंत्रित करने और नए मामलों की रोकथाम को लेकर कोशिशें शुरु कर दी गई हैं.

बीबीसी के कहना है कि महाराष्ट्र के पुणे शहर में पिछले दो हफ्तों के दौरान कम से कम सात लोगों की एच1एन1 वायरस से मौत हुई है. स्वाइन फ्लू के ये मामले मुख्य रूप से पुणे और उसके आसपास के इलाकों से हैं. पुणे स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के प्रमुख के मुताबिक स्वाइन फ्लू की ये वापसी छिटपुट मामलों तक सीमित रह सकती है.