पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >उड़ीसा Print | Share This  

विधायक अपहरण पर विधानसभा में हंगामा

विधायक अपहरण पर विधानसभा में हंगामा

भुवनेश्वर. 24 मार्च 2012 वासुदेव महापात्रा

जीना हिकाका


बीजू जनता दल के विधायक जीना हिकाका के अगवा होने पर ओडिशा विधानसभा में विपक्षी विधायकों ने जमकर हंगामा किया. इसके कारण विधानसभा की कार्यवाही दोपहर तक स्थगित कर दी गई. इतालवी पर्यटकों के बाद अब ओडिशा के नक्सलियों द्वारा जीना हिकाका के अपहरण से सनसनी फैली हुई है.

गौरतलब है कि सत्ताधारी बीजू जनता दल के विधायक जीना हिकाका को शुक्रवार देर रात अगवा कर लिया. भुवनेश्वर से करीब पांच सौ किमी दूर कोरापुट और लक्ष्मीपुर के बीच पहाड़ी इलाके में हुई घटना में 100 से 150 हथियारबंद नक्सली शामिल थे. पेशे से वकील जीना हिकाका लक्ष्मीपुर विधानसभा सीट से बीजद के विधायक हैं.

हिकाका के अगवा होने पर ओडिशा विधानसभा में विपक्षी विधायकों ने जमकर हंगामा किया. इसके कारण विधानसभा की कार्यवाही दोपहर तक स्थगित कर दी गई.

इसी बीच इटली पर्यटकों के अपहरण मामले में नक्सलियों की तरफ से वार्ताकार बनाए गए पूर्व आईएएस बी डी शर्मा और दंडपाणी मोहंती ने नक्सलियों से अपील की है कि विधायक को अविलंब रिहा कर दें. पुलिस उपमहानिरीक्षक एस प्रियदर्शी ने बताया कि लक्ष्मीपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हिकाका अपने सुरक्षा अधिकारी के साथ देर रात करीब 1.20 मिनट पर सेमीलिगुडा से लौट रहे थे. इसी दौरान नक्सलियों ने उनका अपहरण कर लिया. नक्सलियों ने विधायक, उनके सुरक्षा अधिकारी और चालक का अपहरण कर लिया, लेकिन शनिवार तड़के करीब चार बजे चालक और पीएसओ को रिहा कर दिया.

प्रियदर्शी ने बताया कि देर रात सेमीलिगुडा से लक्ष्मीपुर लौटने के अपने कार्यक्रम के बारे में विधायक और पीएसओ ने पुलिस को कोई सूचना नहीं दी थी. उन्होंने बताया कि लक्ष्मीपुर से करीब पांच किलोमीटर दूर तायापुर में कोरापुट-लक्ष्मीपुर मार्ग पर कुछ वाहनों के फंसे होने पर विधायक अपने वाहन से उतर गए. इसी बीच हिकाका कुछ समझ पाते कि कई सशस्त्र माओवादियों ने उनका अपहरण कर लिया.

कोरापुट के एसपी अविनाश कुमार ने बताया कि रिहा होने के बाद लक्ष्मीपुर पहुंचे वाहन चालक की शिकायत के बाद पुलिस को वारदात का पता चला. नक्सलियों ने उनके वाहन में पर्चा चस्पा किया है जिसमें ओडिशा की जेल में बंद नक्सल नेताओं को रिहा करने और ऑपरेशन ग्रीन हंट बंद करने की मांग की है.

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस मसले पर आपात बैठक बुलाई, जिसमें गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक और वरिष्ठ पुलिस अधिकारी शामिल थे. पुलिस ने सर्चिंग अभियान शुरू कर दिया है.

इधर इस मामले में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने विधानसभा में जब बयान दिया तो विपक्षी विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया. पटनायक के बयान के मुताबिक दो मंत्रियों को कोरापुट भेजा गया है जो विधायक की सुरक्षित रिहाई के लिए प्रयास करेंगे. 34 साल के विधायक के अपहरण की घटना ऐसे समय पर हुई है, जब नक्सलियों ने इटली के दो पर्यटकों को पहले ही अगवा कर रखा है. इनकी रिहाई के लिए मध्यस्थों के अलावा दूसरे चैनल से भी सरकार नक्सलियों के साथ बातचीत कर रही है.

मलकानगिरी जिले के खैरपुट बाजार में दो दिन पहले एक पुलिस उपनिरीक्षक की नक्सलियों द्वारा की गई हत्या से वार्ता पर खतरा मंडरा रहा है. अधिकारियों का कहना है कि इस बात से साफ हो जाता है कि नक्सली वार्ता के प्रति कितने गंभीर हैं. नक्सली चर्चा के लिए अब तक 13 मांगें सरकार के पास रख चुके हैं.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in