पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

राजोआणा की फांसी टली

राजोआणा की फांसी टली

नई दिल्ली. 29 मार्च 2012

बलवंत सिंह राओआणा


पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या के दोषी बलवंत सिंह राजोआणा की फांसी पर केंद्र सरकार ने रोक लगा दी है. बलवंत सिंह को 31 मार्च को फांसी दी जानी थी. इस फांसी के मुद्दे पर पूरे पंजाब में प्रदर्शन और बंद का माहौल बना हुआ है. कई इलाकों में धारा 144 लागू है.

बलवंत सिंह राजोआणा के फांसी के मुद्दे पर मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने राष्ट्रपति से मुलाकात की और उन्हें दया याचिका सौंपी, जिसे राष्ट्रपति ने विचारार्थ गृह मंत्रालय को प्रेषित कर दिया. इसके बाद इस फांसी पर याचिका के निपटारे तक रोक लगा दी गई है.

गौरतलब है कि पंजाब सरकार समेत कई संगठनों ने मांग की है कि बलवंत सिंह राजोआणा की फांसी की सजा को रद्द किया जाये. पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और उनके बेटे सुखबीर सिंह बादल ने शिरोमणि अकाली दल की बैठक में तय किया था कि बलवंत सिंह राजोआणा को किसी भी कीमत पर पंजाब में फांसी नहीं दी जाएगी.

इस बैठक के बाद पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने कहा था कि बेअंत सिंह हत्या मामले के दोषी बलवंत सिंह राजोआणा की फांसी 31 मार्च को नहीं हो पाएगी. उन्होंने कहा था कि हमारी जिम्मेदारी किसी भी कीमत पर कानून एवं व्यवस्था बरकरार रखने की है.

शिरोमणि अकाली दल के महासचिव प्रेमसिंह चंदूमाजरा का कहना है कि इस मुद्दे पर पार्टी दूसरे संगठनों से भी मदद लेगी और विधानसभा में भी प्रकाश सिंह बादल इस मामले में अपनी राय स्पष्ट करेंगे. गौरतलब है कि पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष कैप्टन अमरेंदर सिंह और बेअंत सिंह के परिवार वाले पहले ही बलवंत सिंह राजोआणा की फांसी को माफ करने की अपील कर चुके हैं.