पहला पन्ना >कला >दिल्ली Print | Share This  

पैसे के लिये सब कुछ किया-अक्षय

पैसे के लिये सब कुछ किया-अक्षय

नई दिल्ली. 29 मार्च 2012

अक्षय कुमार


भारत दुनिया का संभवतः अकेला ऐसा देश है, जहां लोगों के पास हरेक विषय पर विशेषज्ञों की तरह के विचार हैं. कम से कम फिल्म स्टार अक्षय कुमार तो यही साबित करने पर तुले हुये हैं. अपनी फिल्म हाउसफुल का प्रचार कर रहे अक्षय कुमार का कहना है कि लोकपाल कानून देश से भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए इकलौता हथियार नहीं है. उनकी राय में भ्रष्टाचार से लड़ने के लिये हरेक नागरिक को आगे आना होगा. लोकपाल बिल को लेकर जब उनसे थोड़ा विस्तार से पूछा गया तो अक्षय कुमार हड़बड़ा आए और फिर फिल्मों पर ही बात करने में उलझते रहे.

वैसे अक्षय कुमार ने यह सब कुछ कहते हुये लगे हाथों यह बात भी स्वीकार कर ली कि मैंने सिनेमा को योगदान देने के लिए नहीं बल्कि पैसे कमाने के लिए फिल्में कीं. जिम्मेवारी भरा अभिनय के सवाल पर उनकी राय थी कि कोई भी फिल्म करते वक्त अगर आप किसी ज़िम्मेदारी का बोझ अपने कंधों पर डालेंगे तो कभी अच्छा काम नहीं कर पाएंगे. फिल्में तो हंसते खेलते, मौज मस्ती करते हुए हल्के फुल्के तरीके से करनी चाहिए.

अक्षय कुमार का कहना था कि थैंक्यू और देसी ब्वॉयज़ बॉक्स ऑफिस पर लुट गये थे. ऐसे में अक्षय को अपनी ताजा फिल्म से बहुत उम्मीद लगाए बैठे हैं. अक्षय का कहना है कि कुछ साल पहले उन्होंने एक साथ 14 फ्लॉप फिल्में दीं. फिर कुछ हिट फिल्में भी आईं. जाहिर है, हिट और फ्लाप का सिलसिला तो चलता ही रहता है. अक्षय कहते हैं कि सिंह इज़ किंग ने 70 करोड़ का आंकड़ा पहले छुआ. फिर 100 करोड़ का रिकॉर्ड बने. अगले पांच सालों में फिल्में 400 करोड़ रुपए तक का व्यापार कर सकेंगीं.