पहला पन्ना >राज्य >महाराष्ट्र Print | Share This  

मुंबई में एक और हाऊसिंग सोसायटी घोटाला

मुंबई में एक और हाऊसिंग सोसायटी घोटाला

मुंबई. 4 अप्रैल 2012

सांई प्रसाद सोसायटी


नेताओं और शीर्ष नौकरशाहों के भ्रष्टाचार का एक और मामला सामने आया है. मुंबई के बांद्रा इलाके में जिस ज़मीन को पिछड़े वर्ग के छात्रों के लिए हॉस्टल बनाए जाने के लिए आरक्षित किया गया था, उस पर सांई प्रसाद हाऊसिंग सोसायटी बना दी गई. आरोप यह भी लग रहे हैं कि आदर्श सोसायटी घोटाले मामले की तरह ही यहां भी तटीय सीमा क्षेत्र के नियम (सीआरज़ेड़) का उल्लंघन हुआ है. हालांकि सोसायटी अध्यक्ष, मुख्यमंत्री के निजी सचिव अजीत कुमार जैन ने इससे इंकार करते हुए कहा है कि “ये प्लॉट सीआरजेड़ के अंतर्गत नहीं आता है और इस सोसायटी का निर्माण करते हुए कोई अनियमितता नहीं हुई है”.

इस सोसायटी में कुछ वरिष्ठ नौकारशाह जैसे बीएमसी के पूर्व कमिश्नर जयराज फाटक, बीएमसी के पूर्व एडिशनल कमिश्नर किशोर गजभिये, पूर्व एडिशनल कलेक्टर एचके जावले, मुख्यमंत्री कार्यालय में निजी सचिव रहे डॉ. अविनाश ढांकने, सेंट्रल एक्साइज में जॉइंट कमिश्नर हेमंत कोठीकर, मुख्यमंत्री के पूर्व सचिव सीएस संगीतराव की बेटी ऋचा और भाई के फ्लैट हैं. इनके अलावा कांग्रेस नेता कृपाशंकर सिंह, उनके रिश्तेदार सुरेंद्र प्रताप उमाशंकर सिंह, पुलिस जॉइंट कमिश्नर हिमांशु रॉय, कई आईएएस और आईपीएस अफसर भी फ्लैट मालिक हैं.

इनमें से कईयों का नाम आदर्श सोसायटी घोटाले में पहले भी आ चुका है जिनमें जयराज फाटक और सीएस संगीतराव के नाम प्रमुख हैं. यह सारी जानकारी आरटीआई एक्टीविस्ट अनिल गलगले द्वारा सूचना के अधिकार के तहत प्राप्त की गई है. उन्होंने दावा किया है कि 1,403 वर्गमीटर के प्राइम प्लॉट पर बनी इस इमारत में कई नियमों की अनदेखी की गई है और बड़े पैमाने पर घोटाला हुआ है.