पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

कसाब के खाने पर रोज 29 रुपये खर्च

कसाब के खाने पर रोज 29 रुपये खर्च

मुंबई. 12 अप्रैल 2012

अजमल कसाब


26 नवंबर 2008 को मुंबई पर हमला करने वाले मोहम्मद अजमल कसाब को बिरयानी और मुर्ग मसल्लम खिलाने का आरोप लगाने वालों को शायद इस बात पर गहरा झटका लग सकता है कि सरकार ने कसाब के खाने-पीने पर हर दिन 30 रुपये से भी कम खर्च किया है. हिसाब निकाला जाये तो कसाब के नाश्ता-खाना और चाय पर हर दिन जो पैसा खर्च हुआ है, वह 29 रुपये 39 पैसे के आसपास ठहरता है.

महाराष्ट्र के गृह मंत्री आर.आर. पाटिल ने विधान परिषद में अजमल कसाब पर हुये खर्च का ब्यौरा देते हुये कहा कि उसकी गिरफ्तारी से लेकर 29 फरवरी 2012 तक उसके खाने-पीने पर 34 हजार 975 रुपये खर्च कर चुकी है. तीन साल, तीन महीने और तीन दिन यानी कुल जमा 1190 दिनों में कसाब पर हुआ यह खर्चा हर रोज 30 रुपये से कम है.

इसके अलावा कसाब के स्वास्थ्य पर 28,066 रुपये खर्च किये गये हैं. इसी तरह उसे मुंबई के जिस ऑर्थर रोड जेल में रखा गया है, उसे बम व बुलेट प्रूफ बनाने पर करीब 5 करोड़ 25 लाख रुपये खर्च हुए हैं. कसाब की सुरक्षा के लिये जिन लोगों की ड्यूटी लगायी गई, उनके वेतन-भत्ते पर 1,22,18,406 रुपये सरकार खर्च कर चुकी है.

इन सबके अलावा भारत-तिब्बत सीमा पुलिस पर माहाराष्ट्र सरकार ने 19 करोड़ 28 लाख रुपये का खर्च किया है, जिन्हें कसाब की निगरानी का जिम्मा सौंपा गया है. हालांकि पाटिल ने इस खर्च को लेकर केंद्र सरकार को पत्र लिख कर कहा है कि कसाब ने जो हमला किया था, वह देश पर किया गया हमला है. इस लिहाज से कम से कम भारत-तिब्बत सीमा पुलिस पर होने वाला खर्च केंद्र सरकार माफ करे.