पहला पन्ना >राजनीति >उ.प्र. Print | Share This  

मूर्तियों को छेड़ा तो देश में होगा बवाल-मायावती

मूर्तियों को छेड़ा तो देश में होगा बवाल-मायावती

लखनऊ. 15 अप्रैल 2012

मायावती


उत्तर प्रदेश में एक बार फिर घमासान के आसार नज़र आ रहे हैं. राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा बनवाए गये पार्क में अस्पताल और स्कूल खोलने संबंधी बयानों के बाद राज्य में बवाल मचा हुआ है. पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने राज्य की समाजवादी पार्टी सरकार को खुली चुनौती दी है कि अगर पार्कों में लगी इन मूर्तियों के साथ अगर छेड़छाड़ हुई तो इससे प्रदेश की ही नहीं बल्कि पूरे देश में कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा हो जाएगी.

अंबेडकर जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में मायावती ने कहा कि बसपा सरकार ने समाजवादी पार्टी की सरकार के शासनकाल में उनके नायकों के नाम पर बनवाए गये विभिन्न पार्कों और स्मारकों के सम्मान के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की. समाजवादी पार्टी सरकार को इससे सीख लेनी चाहिए. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सपा सरकार को ऐसा कोई काम नही करना चाहिए, जिससे देश में कानून एवं व्यवस्था बिगड़े, इसलिए भी कि उसे इसका खामियाजा भुगतना पडेगा.

इधर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक बार फिर कहा है कि उनकी सरकार राज्य में खाली पड़ी बेशकीमती ज़मीनों के सदुपयोग की बात करती है और वह चाहती है कि इन ज़मीनों पर अगर महिलाओं और बच्चों के अस्पताल बन जाएं तो इससे आम जनता का भला होगा.

अखिलेश यादव ने मायावती पर निशाना साधते हुये कहा कि जिन्होंने पार्क बनाए और उनमें हाथियों और खुद अपनी मूर्तियां लगवाईं उन्हें पहले ही मतदाता सजा दे चुके हैं और बाहर का रास्ता दिखा चुके हैं.